जांजगीर-चाम्पा। शक्ति- देश के पवित्र धर्मस्थल अयोध्या धाम में बनने वाला भगवान श्री राम का मंदिर कुल 2.7 एकड़ क्षेत्रफल में तथा 57400 वर्ग फीट पर मंदिर का निर्माण होगा, एवं इस मंदिर की कुल ऊंचाई 161 फीट, कुल चौड़ाई 235 फीट एवं कुल लंबाई 360 फीट की होगी, तथा यह 05 शिखर वाला मंदिर होगा, जो कि 3 तल्ले में तथा प्रत्येक तल की ऊंचाई 20 फीट की होगी।
उक्ताशय की बातें 9 जनवरी को श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र धन संग्रह समिति शक्ति जिला द्वारा स्थानीय राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ शक्ति जिले के कार्यालय में एक पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए राष्ट्र्रीय स्वयंसेवक संघ छत्तीसगढ़ प्रांत के सह कार्यवाह चंद्रशेखर देवांगन ने कही, इस दौरान राष्ट्रीय सेवक संघ संघ के वरिष्ठ पदाधिकारी रामचंद्र थावाणी रामा भैया, शक्ति जिले के संयोजक शिव जायसवाल,जिला प्रचारक बाबूलाल सिंह तथा अधिवक्ता चितरंजय पटेल प्रमुख रूप से उपस्थित थे, संघ के सह प्रांत कार्यवाह चंद्रशेखर देवांगन ने बताया कि 9 जनवरी को शक्ति जिले में श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र धन संग्रह समिति के कार्यालय शुभारंभ के साथ ही श्री राम जन्म भूमि न्यास द्वारा प्रकाशित धन संग्रह राशि के 10 रुपये, सौ रुपए, एवम1000 रुपये के कूपन प्रेषित किए गए हैं, जिसका पूजन कर विधिवत विमोचन किया गया है, एवं 1000 से 20000 तक के भी सहयोग राशि कोई भी व्यक्ति राम मंदिर निर्माण के लिए दे सकता है, जिसके लिए श्री राम जन्म भूमि न्यास की प्रिंटेड रसीद बुक पर उसे रसीद दी जाएगी, एवं 20000 से अधिक की सहयोग राशि चेक एवं सीधे न्यास के खाते में भेजा जा सकता है, तथा श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र का अयोध्या में बैंक खाता भारतीय स्टेट बैंक में स्थापित है, जिसका खाता नंबर-39161495808 तथा चालू खाता नंबर 39161 498809 है कोड-0002510 तथा पैन नंबर- 6197 है, एवं राम मंदिर निर्माण हेतु सहयोग करने वाले लोगों को आयकर की धारा 80 जी की भी छूट प्राप्त होगी, चंद्रशेखर देवांगन ने बताया कि शक्ति जिले में गांव-गांव,शहर-शहर में समिति द्वारा टोली बनाई गई है, जो कि प्रत्येक घरों में जाकर लोगों से श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र हेतु सहयोग करने का आग्रह करेगी एवं जिला तथा जिले से ब्लॉक एवं ब्लॉक से मोहल्लों तक के लिए यह कार्यक्रम आयोजित किया गया है, देवांगन ने कहा कि समिति द्वारा धन संग्रह राशि का कार्य सिर्फ 1 दिन किया जाएगा एवं शेष 14 जनवरी से प्रारंभ होकर 25 फरवरी तक लोगों को राम मंदिर जन जागरण अभियान के माध्यम से जोड़ा जाएगा, एवं 1 दिन संबंधित क्षेत्रों में समिति के कार्यकर्ता लोगों से जाकर धन संग्रह की अपील करेंगे, चंद्रशेखर देवांगन ने बताया कि दान भारतीय सनातन समाज की पुरातन विशेषता रही है,एवम सन्यासी इत्यादि को जीवन यापन हेतु संसाधन उपलब्ध कराना, मंदिर एवं तीर्थों में धर्मशाला तथा अन्य समाज उपयोगी स्थानों का निर्माण कराना, सहयोग करना समाज के श्रीमंतओं का शाश्वत स्वभाव रहा है,यह सामाजिक कर्तव्य भी माना गया है।
इसी प्राचीन परंपरा के अनुसार श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र भगवान श्री राम के मंदिर निर्माण हेतु समस्त समाज के साथ सहयोग का आह्वान करता है, महासागर पर सेतुबंध के समय गिलहरी की भांति इस पुनीत यज्ञ में यथाशक्ति योगदान कर पुण्य के भागी बने, चंद्रशेखर देवांगन ने कहा कि छत्तीसगढ़ की पावन धरती भगवान श्री राम जी का ननिहाल रहा है, इस कारण से श्री राम जी के साथ छत्तीसगढ़ की माटी का विशेष संबंध है, यह हमारे लिए स्वाभिमान का विषय है,इसलिए इस अभियान को हम सभी विशेष रूप से सफल बनाने हेतु कार्य करेंगे तथा छत्तीसगढ़ के भाचा भगवान श्री राम की पावन जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण हेतु मुक्त हस्त से हमें सहयोग कर मामा- मामी का धर्म निभाना चाहिए, चंद्रशेखर देवांगन ने कहा कि समिति द्वारा इस कार्य को बेहतर कार्ययोजना के आधार पर प्रारंभ कर दिया गया है।