कोरबा 13 जनवरी 2021/शासन द्वारा अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों के लिए जाति प्रमाण पत्र के स्थान पर 10 रूपए के गैर न्यायिक स्टाम्प पेपर पर शपथ पत्र को मान्यता दिया गया है। अल्पसंख्यक समुदाय के अंतर्गत आने वाले मुस्लिम, ईसाई, सिक्ख, बौद्ध, पारसी एवं जैन धर्म के लोगों को अल्पसंख्यक प्रमाण पत्र बनवाने की आवश्यकता नहीं होगी। अल्पसंख्यक समुदाय को रोजगार मूलक योजनाओं एवं छात्रवृत्ति आदि की सुविधा के लिए जाति प्रमाण पत्र के बदले स्टाम्प पेपर पर शपथ पत्र को मान्य किया गया है।
सहायक आयुक्त आदिवासी विकास कोरबा श्री एस. के. वाहने ने बताया कि जाति प्रमाण पत्र की बाध्यता खत्म करने से अल्पसंख्यक वर्ग के लोगों को राज्य में संचालित विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं, बैंक ऋण प्रयोजनों तथा छात्रवृत्ति योजनाओं आदि में लाभ मिलेगा।