जांजगीर /पत्नी के साथ पड़ोसी युवक का अवैध संबंध की शंका में एक युवक ने सोमवार की रात जिस पर शंका थी, उसे मारने का प्लान बनाया। अपने घर में सीढ़ी लगाकर नीचे उतरा और सामने महिला मिली ताे उसे मार डाला। इसके बाद वह युवक आर्यन की हत्या करने के लिए उसके कमरे में घुसा लेकिन वहां उसकी मां सो रही थी।
लक्ष्मण ने चाकू मार कर उसकी भी हत्या कर दी। युवक की किस्मत अच्छी थी कि वह दूसरे कमरे में पिता चिंतामणी के साथ सो रहा था और उसकी जान बच गई, वहीं आरोपी युवक घटना के बाद अपने ससुराल जाकर जहर खा लिया और इलाज के दौरान उसकी भी मौत हो गई। उसका एक अन्य भाई घर से फरार है, इसलिए परिजन का आरोप है कि युवक और उसके भाई ने मिलकर हत्या की है। दोनों पर अपराध दर्ज करने की मांग को लेकर हंगामा हुआ।
चंद्रपुर-डभरा एसडीओपी बीएस खूंटिया के अनुसार डभरा थाना क्षेत्र के ग्राम खरकेना निवासी लक्ष्मण भारद्वाज के बाजू में युवक आर्यन रत्नाकर पिता चिंतामणी का घर है। लक्ष्मण की शादी खरसिया थाना क्षेत्र के किसी गांव में हुई है। लक्ष्मण को शक था कि उसकी पत्नी मधु भारद्वाज का पड़ोसी युवक आर्यन के साथ अवैध संबंध है। इस कारण वह तनाव में रहता था। खूंटिया के अनुसार लक्ष्मण की पत्नी उसे छोड़कर अपने मायके में रहने लगी है। सोमवार की रात लक्ष्मण भारद्वाज ने पड़ोसी युवक को मारने की प्लानिंग की और देर रात अपने घर से सीढ़ी(निशेनी) लगाकर वह अपने पड़ोसी युवक आर्यन की छत में पहुंच गया।
वहां से वह सीढ़ी से नीचे उतरा। सीढ़ी से नीचे उतरने पर बरामदे में ही एक महिला यानि युवक की दादी गुरबारी बाई (70 वर्ष) पति लखन लाल साेई थी। लक्ष्मण ने पहले उसकी हत्या कर दी। उसे मारने के बाद वह दूसरे कमरे में घुसा जहां युवक की मां संतोषी बाई रत्नाकर सोई हुई थी। युवक लक्ष्मण ने उसे भी मार डाला। घटना स्थल से लेकर लेंटर तक खून के निशान मिले जिससे पुलिस को शक है कि दोनों को मारने के बाद लक्ष्मण वापस उसी रास्ते से अपने घर की ओर लौट गया। मंगलवार की सुबह युवक का परिवार उठा तो घटना की जानकारी हुई।

दोनों को मारने के बाद भाग गया खरसिया ससुराल
लक्ष्मण के सिर पर पत्नी की बेवफाई का खून सवार था। दोनों महिलाओं की हत्या करने के बाद वह अपनी पत्नी को भी मारने के आवेश में अपने ससुराल खरसिया चला गया। पुलिस के अनुसार उसने अपने ससुराल जाने से पहले ही जहर पी लिया था। ससुराल में उसने खुद को एक कमरे में बंद कर लिया था।

इलाज के दौरान आरोपी युवक की हुई मौत
घटना के बाद आरोपी युवक अपने ससुराल भाग गया तो ग्रामीणों ने उसके ससुराल में फोन की घटना की जानकारी दी। उधर युवक ने खुद को अपने ससुराल के कमरे में बंद कर लिया था। ससुराल वालों ने सरपंच को जानकारी दी फिर डायल 112 काे सूचना दी गई। एसडीओपी खूंटिया के अनुसार सूचना पर डायल 112 की टीम पहुंची तो युवक ने खुद अपने कमरे का दरवाजा खोला इसके बाद उसे इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाया गया। जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

गांव वालों को भी पता थी युवक की हरकत
युवक आर्यन भारद्वाज ने पुलिस को लिखाई रिपोर्ट के अनुसार युवक की पत्नी से उसकी जान पहचान थी, जिसके कारण वह शक करता था। पुलिस के अनुसार लक्ष्मण शक में अक्सर गाली गलौज करता था, जिसकी जानकारी गांव के सरपंच सुशील भारद्वाज तथा अन्य लोगों को भी थी।

Previous articleराजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने किया सड़क जीर्णोद्धार कार्य का उद्घाटन
Next articleगोलीकांड का खुलासा:डीजल माफिया साजिद व साथी गोपू ने मिलकर सुमित के जांघ पर चलवाई थी गोली