कोरबा। भारत एल्यूमिनियम कंपनी लिमिटेड (बालको) ने सार्थक जन विकास संस्थान के साथ साझेदारी में अपनी परियोजना कनेक्ट के अंतर्गत बाल दिवस को बड़े उत्साह के साथ मनाया। कार्यक्रम को माध्यमिक विद्यालय रुमगरा, आदर्श उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बालको, कन्याशाला गल्र्स स्कूल बालको, हायर सेकेंडरी स्कूल गोढ़ी और हायर सेकेंडरी स्कूल पीडब्ल्यूडी रामपुर इन पांच अलग-अलग स्कूलों में आयोजित सम्मान समारोह के माध्यम से मेधावी विद्यार्थियों को शिक्षा के क्षेत्र में उनकी अनुकरणीय उपलब्धियों के लिए सम्मानित किया गया। सम्मान समारोह में सेमा विषयों (विज्ञान, अंग्रेजी, गणित, लेखा) में कक्षा 9वीं एवं 12वीं कक्षा के छात्रों को निरंतर उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए प्रोत्साहित और प्रेरित किया गया तथा उत्साहवर्धन हेतु उन्हें किताबें प्रदान की गईं।
बालको के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं निदेशक अभिजीत पति ने कहा कि कुशल कौशल और शिक्षा के साथ हमारे युवा छत्तीसगढ़ और भारत के भविष्य को आकार देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। शिक्षा के क्षेत्र में विभिन्न पहल के माध्यम से हमारा लक्ष्य स्थानीय युवाओं को प्रोत्साहित करना, उन्हें अवसरों के प्रति जागरूक करने में मदद करना और उनकी रुचि के संबंधित क्षेत्रों का पता लगाना है। बालको, समुदाय में प्रत्येक व्यक्ति को आत्मनिर्भर बनाने के लिए आवश्यक संसाधनों तक पहुंच बनाने में विश्वास करता है जो हमारे विभिन्न सामुदायिक विकास परियोजना के उद्देश्य से जुड़े हुए हैं।
बालको के सामुदायिक विकास पहल की प्रशंसा करते हुए आदर्श बाल मंदिर के प्रधानाचार्य श्री एके राठौर ने कहा कि बालको अपने परियोजना कनेक्ट के माध्यम से युवाओं के जीवन को बदल रहा है।
कन्या शाला बालको की छात्रा शिवानी राठौर ने कहा कि सम्मान समारोह बेहद उत्साहजनक था। ऐसे कार्यक्रम ने शिक्षा के क्षेत्र में हमारे प्रयासों और प्रतिबद्धताओं को और मजबूत किया है।
कक्षा ग्यारहवीं की छात्रा रितु साहू ने कहा कि न केवल हमारा समर्थन करने बल्कि हमारी उपलब्धियों को प्रोत्साहित करने के लिए बालको का धन्यवाद करना चाहती हूं। वर्ष 2016 में शुरू ‘परियोजना कनेक्टÓ का उद्देश्य स्थानीय विद्यार्थियों में विज्ञान, अंग्रेजी, गणित और लेखा में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए समुदाय की जरूरतों को पूरा करना है। परियोजना मुख्य रूप से बालको कर्मचारियों तथा स्वयंसेवी शिक्षकों के माध्यम से छात्रों के ग्रेड में सुधार, शिक्षकों की क्षमता निर्माण और करियर परामर्श के लिए एक सक्षम वातावरण बनाकर सरकारी स्कूलों में सीखने के माहौल में सुधार लाने पर केंद्रित है।