चांपा। कोरोनाकाल की विश्वव्यापी महामारी के दौरान देशवासियों की आम जरूरतों, दैनिक उपयोग की वस्तुओं जैसे खाद्य सामग्री, दवाएं, चिकित्सा आपूर्ति, चिकित्सा उपकरण, खाद्य तेल, आदि आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता को सुनिश्चित एवं एक जिम्मेदार संगठन के रूप में देश के प्रति अपनी जिम्मेदारियों को पूरा करने के लिए भारतीय रेलवे ने देश के अलग-अलग जगहों के लिए पार्सल ट्रेनों का परिचालन शुरू किया।
इसी कड़ी में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के तीनों मंडलों के महत्वपूर्ण स्टेशनों से होकर भी देश के अलग-अलग हिस्सों के लिए कोविड-19 पार्सल स्पेशल एवं विशेष पार्सल ट्रेनों का परिचालन शुरू किया गया है। ये सेवाए इस विषम परिस्थिति में जहां एक ओर आसानी से पार्सल एव सामान भेजने के लिए सुविधाजनक हुई है तो वहीं एक-दूसरे की मदद के लिए आवश्यक सामग्री भेजने वालों को अच्छी सुविधा उपलब्ध करा रही है। इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए भी अधिक से अधिक संख्या में लोगों ने आवश्यक सामग्रियों की बुकिंग का लाभ लॉकडाउन के दौरान उठाया है एवं अभी भी जारी है। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के महत्वपूर्ण स्टेशनों को जोड़ते हुए चलाए जा रहे पार्सल ट्रेनों के माध्यम से कोरोनाकाल के दौरान एक अप्रैल से 14 सितम्बर 2020 तक कुल 11588.64 टन पार्सल की लोडिंग की गई, जो कि एक रिकार्ड है। साथ इस रेलवे ने पार्सल गाडिय़ों से 2 करोड़ 72 लाख 20 हजार 925 की आय अर्जित की। इन पार्सल ट्रेनों में लोड की गई वस्तुओं में 3101.88 टन फल एवं डेयरी उत्पाद, 278.62 मेडिसिन, 136.97 टन मेडिकल इक्विपमेंट, 1434.33 टन सब्जियाँ, 1414.33 टन किराना सामान तथा 5222.5 टन दैनिक उपयोग की अन्य वस्तुएं शामिल हैं, जिसमें मुख्य रूप से पपीता, अमरूद, चिरौंजी के बीज, ताजी सब्जियां, मोटरसाइकिल, साइकिल, कपड़ा, प्लास्टिक बैग, कपडे, अगरबत्तियां, चॉकलेट, मिष्ठान्न, सुपारी, मशरूम, पापड़, मसाले एवं अन्य किराना वस्तुएं सम्मिलित हैं। इसके अलावा रेलवे द्वारा कम समय में या जल्द खराब होने वाली अलग-अलग कृषि उत्पादों को भी जल्द से जल्द उनके गंतव्य तक पहुँचाने के लिए हेल्पलाइन सेवा के साथ सेपरेट सेल की शुरुआत की गई है।
छोटे व्यवसायियों को मिलेगी बैंक ऋ ण के माध्यम से आर्थिक मदद
जांजगीर-चांपा। अंत्यावसायी निगम की बैंक प्रवर्तित अंत्योदय स्वरोजगार योजना के तहत छोटे व्यवसायियों की स्थिति सुधारने के लिए आर्थिक सहायता की जाती है। जिला अंत्यावसायी समिति के कार्यपालन अधिकारी ने बताया के ठेले, खोमचे, फेरी वाले, सडक़ किनारे सामान बेचने वाले, रिक्शा चालक, टेलर, छोटे होटल, पान-ठेला, मोची दुकान, मोटर सायकल मरम्मत आदि कार्यों के लिए बैंक के माध्यम से ऋ ण स्वीकृत किया जाता है।