जयपुर, 01 जुलाई [एजेंसी]।
उदयपुर में दर्जी कन्हैयालाल की निर्मम हत्या के दोनों आरोपी रियाज अख्तरी और गौस मोहम्मद को जयपुर की विशेष एनआईए अदालत के समक्ष पेश किया जाएगा। इसी बीच एनआईए ने कहा कि दोनों आरोपियों के किसी आतंकवादी संगठन से संबंध होने की मीडिया रिपोर्ट अनुमान पर आधारित है। दरअसल, दर्जी कन्हैयालाल की मंगलवार को गला काटकर हत्या कर दी गई थी। इसके बाद आरोपियों ने हत्या का वीडियो सोशल मीडियो पर साझा किया था।
समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, एनआईए की 6 से 10 सदस्यीय टीम एक महानिरीक्षक और एक उप महानिरीक्षक रैंक के अधिकारियों की निगरानी में मामले की जांच कर रही है। एनआईए ने बताया कि उदयपुर में कन्हैया लाल की निर्मम हत्या के आरोपी रियाज अख्तरी और गौस मोहम्मद को आज या कल शाम 5 बजे तक जयपुर की विशेष एनआईए अदालत में पेश किया जाएगा। उनसे राजस्थान में ही पूछताछ की जाएगी और दिल्ली नहीं लाया जाएगा। इसके साथ ही एनआईए ने बताया कि आरोपियों के ग्रुप में कई सदस्य होंगे। यह सिर्फ दो नहीं है। एक बड़ा समूह होगा। उन्होंने कहा कि शुरुआती जांच से पता चलता है कि हत्या में कोई आतंकवादी समूह शामिल नहीं हो सकता है, लेकिन यह एक आतंकवादी गिरोह हो सकता है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कन्हैयालाल के परिवार वालों से मुलाकात की। इसके बाद मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि हमारी पुलिस ने अच्छा काम किया। गिरफ्तार किए गए आरोपियों के अंतरराष्ट्रीय लिंक मिले हैं, इसलिए एनआईए सामने आई… हम इस मामले को फास्ट ट्रैक के माध्यम से लेने की अपील करेंगे। हम चाहते हैं कि एनआईए समयबद्ध हो और दोषियों को एक महीने के भीतर सजा दे। हम उनका सहयोग करेंगे। गौरतलब है कि दर्जी कन्हैयालाल की दो मुस्लिम युवकों ने मंगलवार को चाकू से हत्या कर की और फिर उन्होंने इस नृशंस हत्या का वीडियो बाद में सोशल मीडिया पर पोस्ट किया था। दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। मामले की जांच अब एनआईए कर रहा है और राजस्थान पुलिस का आतंकवाद रोधी दस्ता (एटीएस) जांच में मदद कर रहा है। इस घटना को लेकर उत्तर प्रदेश से लेकर मध्य प्रदेश तक में प्रदर्शन हो रहे हैं।