कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली कूच कर रहे पंजाब और हरियाणा के किसानों पर शुक्रवार सुबह से सिंघु बॉर्डर पर पुलिस ने कई राउंड आंसू गैस के गोले दागे। दोपहर दो बजे के लगभग स्थिति ज्यादा बिगड़ गई और पुलिस ने करीब 40 राउंड आंसू गैस के गोले दागे। इस बीच किसान संगठन और दिल्ली पुलिस लगातार धरनास्थल को लेकर बात कर रहे थे जिसके बाद यह निश्चय हुआ कि किसानों को दिल्ली के बुराड़ी स्थित निरंकारी समागम में प्रदर्शन करने इजाजत दी जाएगी। अब पुलिस किसानों को लेकर दिल्ली पहुंचेगी। वहीं दिल्ली मेट्रो ने एहतियात के तौर पर छह मेट्रो स्टेशनों से निकासी और प्रवेश की सुविधा बंद कर दी है।

किसानों को मिली दिल्ली आने की इजाजत
दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने अधिकारिक तौर पर यह एलान कर दिया है कि किसानों को दिल्ली में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी। उन्हें निरंकारी समागम स्थल बुराड़ी तक आने की इजाजत है। उन्हें यही प्रदर्शन करना होगा। हालांकि पुलिस ने ये भी कहा है कि किसानों को इसके लिए संयम बरतना होगा और शांतिपूर्ण ढंग से पुलिस के साथ चलना होगा।
 

 

सिंघु बॉर्डर पर किसान हुए बेकाबूू
सिंघु बॉर्डर पर अचानक से अफरा-तफरी मच गई है और किसानों ने बैरिकेडिंग तोड़नी शुरू कर दी। इसके बाद किसानों को तितर-बितर करने के लिए दिल्ली पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागने शुरू कर दिए हैं, जिससे तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गई है।
 

हापुड़ रोड पर किसानों को रोका
दिल्ली कूच कर रहे किसानों को पुलिस ने बैरिकेडिंग कर हापुड़ रोड पर सीबीआई अकेडमी के सामने रोका। किसान राष्ट्रीय नेतृत्व के आदेश का इंतजार कर रहे हैं।

शंभू बॉर्डर पर किसानों पर आज फिर दागे आंसू गैस के गोले और पानी की बौछार
शुक्रवार को अमृतसर से जो किसान चले हैं वह शंभू बॉर्डर तक पहुंचे हैं और उन्हें रोकने के लिए अंबाला पुलिस ने गुरुवार की तरह की आंसू गैस के गोले दागे और पानी की बौछार की है।
 

किसानों के आंदोलन के चलते दूल्हे समेत एक बरात को पैदल ही आगे जाना पड़ा। पुलिस ने दिल्ली की ओर जाने वाली तमाम सीमाओं को सील किया है जिससे आम लोगों को काफी परेशानी उठानी पड़ रही है।
 

 
कैप्टन अमरिंदर सिंह ने केंद्र से आग्रह किया है कि वह तुरंत आंदोलन कर रहे किसानों से बात करें और दिल्ली बॉर्डर की तनावपूर्ण स्थिति को खत्म करें।