कोरबा। वनमंडल कटघोरा के केंदई रेंज में 44 हाथी अभी भी विचरण कर रहे हैं। इसमें 26 हाथी दंगबोरा पहाड़ पर है, जबकि 17 अन्य कल रात पहाड़ से नीचे उतरकर गांव तक पहुंच गए और वहां भारी उत्पात मचाते हुए कई ग्रामीणों के फसल को रौंदने के साथ ही संतलाल पिता मंगल सिंह नामक व्यक्ति के मकान को भी ध्वस्त कर दिया। जिससे उसका परिवार बेघर हो गया है। जिस समय हाथियों ने संतलाल के घर को निशाना बनाया उस समय संतलाल व उसका परिवार सो रहा था। हाथियों की चिंघाड़ सुनकर अचानक जगे और किसी तरह भाग कर अपनी जान बचाई। दंगबोरा में हाथियों द्वारा किए गए उत्पात से ग्रामीण काफी भयभीत रहे। आज सुबह ग्रामीणों ने हाथियों के पहुंचने व फसल तथा मकान को नुकसान पहुंचाएं जाने की जानकारी केंदई रेंजर अश्वनी चौबे को दी। जिस पर उन्होंने अपने मातहतो को दंगबोरा रवाना किया। जिनके द्वारा नुकसानी का आंकलन किया जा रहा है। उधर चोटिल लोनर एक बार फिर दल से अलग हो गया है। इसे आज कुर्रूपारा में विचरण करते हुए ग्रामीणों ने देखा और इसकी सूचना वन विभाग को दी।