कोरबा। कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल के मार्गदर्शन में जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों का उचित इलाज तथा देखरेख हो रहा है। कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिये जिला प्रशासन द्वारा हर संभव प्रयास किया जा रहा है। जिले में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिये सभी उचित कदम उठाये जा रहे हैं, साथ ही संक्रमितों के इलाज के लिये बेहतर सुविधायें भी उपलब्ध करायी जा रही है। लक्षण तथा बिना लक्षण वाले मरीजों को घर पर ही रखकर होम आईसोलेशन की सुविधा भी प्रदान की जा रही है। कम लक्षण वाले मरीजों को होम आईसोलेशन में रखकर कोरोना का इलाज किया जा रहा है। मरीज तथा उनके परिवार के लिये कोरोना से बचाव तथा इलाज वाली दवाईयों का किट बनाकर दिया जा रहा है। कॉल सेंटर के माध्यम से 24 घंटे होम आईसोलेटेड मरीजों की स्वास्थ्य की निगरानी भी रखी जा रही है। होम आईसोलेशन में रहने वाले मरीजों की गंभीरता को देखते हुये उन्हें कोविड अस्पताल में भर्ती भी कराया जा रहा है।
जिले में कोरोना मरीजो के इलाज के लिये कोविड अस्पतालों में कुल 1362 बिस्तरों की क्षमता विकसित की जा चुकी है। जिनमें से वर्तमान में 1172 बिस्तर रिक्त है और 190 मरीजों का इलाज जारी है। जिले के चार कोविड अस्पतालों में अब तक 1702 कोरोना मरीजों की भर्ती की जा चुकी है। चार कोविड अस्पतालों से अब तक 1443 मरीज डिस्चार्ज किये गये हैं। ईएसआईसी कोविड अस्पताल में इलाज के लिये 142 बेड स्वीकृत हैं, जिनमें अब तक 766 मरीज भर्ती किये जा चुके हैं तथा 667 मरीज ठीक होकर डिस्चार्ज किये जा चुके हैं। वर्तमान में ईएसआईसी में 77 मरीजों का इलाज जारी है तथा 65 बेड रिक्त है। सीपेट कोविड केयर सेंटर में 900 बेड स्वीकृत हैं, जिनमें अब तक 635 मरीज भर्ती किये जा चुके हैं तथा 546 मरीज डिस्चार्ज किये जा चुके हैं। सीपेट में वर्तमान में 839 बेड रिक्त है तथा 61 मरीजों का इलाज चल रहा है। कृष्णा हॉस्पिटल में 50 बेड स्वीकृत है, अब तक 16 मरीज भर्ती किये जा चुके हैं। तीन मरीज डिस्चार्ज किये जा चुके हैं तथा 12 मरीजों का इलाज जारी है। जैनम एनजीओ(महाराजा हॉटल) में 50 बेड स्वीकृत है जिनमें अब तक 25 मरीज भर्ती किये जा चुके हैं तथा नौ मरीज डिस्चार्ज किये जा चुके हैं। वर्तमान में 16 मरीजों का इलाज चल रहा है।
कम लक्षण तथा बिना लक्षण वाले मरीजों का इलाज होम आईसोलेशन में रखकर किया जा रहा है। अब तक जिले में कुल 1176 लोगों को होम आईसोलेट किया गया है। अब तक 413 होम आईसोलेट मरीज स्वस्थ होकर होम आईसोलेशन से मुक्त किये जा चुके हैं। वर्तमान में कुल 754 मरीजों का इलाज होम आईसोलेशन में रखकर किया जा रहा है। जिले के अब तक कुल 3181 कोरोना संक्रमित मरीजों की पुष्टि हो चुकी है जिनमें से 1856 मरीज ठीक हो चुके हैं तथा 1304 मरीजों का इलाज जिले के तथा राज्य के अन्य कोविड अस्पतालों में जारी है। जिले के कुल 25 लोगों की मृत्यु कोरोना संक्रमण के कारण हो चुकी है। अब तक कोरबा शहरी में 1703, कोरबा ग्रामीण में 263, पाली तहसील में 239, तहसील कटघोरा में 556, तहसील करतला में 279 एवं तहसील पोड़ी-उपरोड़ा में कुल 141 मरीजों की पुष्टि हो चुकी है। सक्रिय कोरोना संक्रमितों में तहसील कोरबा शहरी के 749, कोरबा ग्रामीण के 78, पाली के 115, कटघोरा के 227, करतला के 113 एवं तहसील पोड़ी-उपरोड़ा के 22 मरीज शामिल हैं। अब तक तहसील कोरबा शहरी के 946, कोरबा ग्रामीण के 182, पाली के 122, कटघोरा के 321, कीतलर के 166 तथा पोड़ी-उपरोड़ा के 119 मरीज डिस्चार्ज किये जा चुके हैं। जिले में अब तक 44 हजार 563 कोरोना जांच सैम्पल लिये जा चुके हैं। आरटीपीसीआर 25 हजार 955, एंटीजन सैम्पल 16 हजार 528 तथा ट्रु-नॉट के माध्यम से दो हजार 80 टेस्ट सैम्पल लिये जा चुके हैं।