जांजगीर चांपा। राजस्व विभाग को कब्जाधारी ठेंगा दिखाते नजर आ रहे हैं, दरसल मामला जांजगीर मुख्यालय से लगे ग्राम खोखरा धाराशिव मोड़ का है जहां पर की घास भूमि में कब्जाधारियों नोटिस दिया गया था, उन्हीं कब्जाधारियों में से दीगर जिले से आए महिलाओं के द्वारा घास भूमि जमीन में कब्जा करने की तैयारी जोर शोर से चल रहा है।
राजस्व विभाग केआलाधिकारीयों के मना करने के बावजूद कब्जाधारी निर्माण कार्य करने पर नहीं चूक रहे हैं वही निर्माण कार्य न रोकने की वजह राजस्व विभाग है। इन महिलाओं को जिला प्रशासन का कोई ख़ौफ भी नहीं है, बड़े ही दबंगई से यह काम जारी है,जांजगीर एसडीएम मेनका प्रधान के आदेश पर नायब तहसीलदार व पटवारी मौके पर जाकर निर्माण कार्य में रोक लगाई थी,परन्तु रोक लगाने के बावजूद भी इन दबंग महिलाओं के हौसले इस तरह बुलंद हैं की राजस्व अमले को ठेंगा दिखाते हुए नाक के निचे खेल कर रहे हैं।
इधर विभाग को जानकारी तक नहीं है, जहाँ राजस्व विभाग के आला अधिकारी मौन दिखाई दे रहे हैं, आपको बता दें कि बालको व जांजगीर की रहने वाली यह कब्जाधारी दबंग महिलाओं द्वारा एक नही, दो नही,चार जगहों की घास पर मकान निर्माण कर कब्जा जमाए बैठे हैं ,और 5 से 6 एकड़ घास भूमि में खम्बा तार से घेरा कर फसल उगाई भी कर रहे है, उसके बावजूद भी अब पीछे तरफ का मकान कब्जा कर निर्माण कर रहे हैं, इनके कई कारनामे देखने को मिलेंगे, इसी तरह इन महिलाओं के द्वारा करीब पांच एकड़ घास भूमि जमीन पर कब्जा जमाए बैठे हैं, जिसकी शिकायत होने के बावजूद आज तक किसी प्रकार की कोई ठोस कार्रवाई नही की गई जिसके चलते अतिक्रमण हटाने में राजस्व विभाग के पसीने छूट रहे हैं, वहीं कार्रवाई व अतिक्रमण नही हटाने की वजह से इन कब्जाधारियों को और मौका मिल रहा है वहीं कब्जाधारी बैठे- बैठे करोड़पति बनने का सपना देख रहे हैं, और राजस्व विभाग इन्हें छूट दे रही हैं, अब देखना यह होगा कि राजस्व विभाग अतिक्रमण हटा पाती है या नहीं यह विभाग के अधिकारियों पर एक सबसे बड़ा सवाल हैं।