अकलतरा। खेत खरीदने के लिए विगत कई वर्षों से रोजी मजदूरी कर इकठ्ठा किए गए 3 लाख रूपए नगद व 51 हजार के गहने को चोरों ने किसान के घर से पार कर दिया। जबकि अज्ञात चोरों ने गांव के कई अन्य घरों में भी चोरी का असफल प्रयास किया। हालांकि वारदात के बाद प्रार्थी की रिपोर्ट पर पुलिस ने अज्ञात चोर के खिलाफ जुर्म दर्ज कर उनकी पतासाजी में जुटी है।
अकलतरा थाना क्षेत्र में एक बार फिर चोर गिरोह सक्रिय होने लगे हैं। बीती रात अज्ञात चोरों ने अमरताल के कई घरों में चोरी करने का असफल प्रयास किया, जबकि एक ग्रामीण के घर के मकान से 3 लाख रूपए नगद व अन्य सामान पार कर दिया। पुलिस के अनुसार अमरताल निवासी रामनारायण यादव गांव के पास स्थित संग्रहण केंद्र में हमाली का काम करता है। साथ ही वह गांव के किसानों की जमीन को अधिया लेकर खेती करता है। वह विगत कई वर्षों से खेत खरीदने के लिए रोजी मजदूरी कर रूपए इकठ्ठा कर रहा था। वहीं कुछ दिन बाद ही उसकी रजिस्ट्री भी तय थी। जिसके चलते वह रूपए निकालकर घर में रखा था। बीती रात लगभग 10 बजे वह अपने स्वजनों के साथ खाना खाया और गर्मी होने के चलते वह अपनी पत्नी बच्चों के साथ घर के बरामदे में सो गया। इसी दौरान अज्ञात चोर उसके मकान में पहुंचा और कमरे के अंदर घुसकर रूपए से भरे बैग की पेटी को खोलकर उसमें रखे नगद सहित अन्य सामानों को पार कर दिया। सुबह लगभग 4 बजे उसकी पत्नी सोकर उठी और कमरे में पहुंची। इस दौरान कमरे में रखा सामान अस्त व्यस्त मिला। ऐसे में उसने इसकी जानकारी रामनारायण को दी। सूचना मिलने पर वह आनन-फानन में कमरे में पहुंचा और कमरे में रखे सामानों की जांच की। जांच के दौरान पेटी में रखा 3 लाख रूपए से भरा बैग, सोने व चांदी के जेवर सहित 3 लाख 51 हजार रूपए का सामान गायब था। वारदात के बाद उसने आसपास के लोगों को इसकी जानकारी दी। इस दौरान दो ग्रामीणों के मकानों के भी ताले टूटे होने की सूचना मिली। वारदात के बाद ग्रामीण थाना पहुंचा और इसकी शिकायत पुलिस से की। पुलिस ने प्रार्थी की रिपोर्ट पर अज्ञात चोर के खिलाफ भादवि की धारा 457, 380 के तहत जुर्म दर्ज कर विवेचना में लिया है।