बारहवीं कक्षा पास छात्रों से लाईवलीहुड कॉलेज कोरबा में आठ सितंबर तक लिए जाएंगे आवेदन
कोरबा 05 सितंबर 2021/पर्यटन की संभावनाओं से भरे कोरबा जिले के युवा अब होटल मैनेजमेंट के गुर भी सीख सकेंगे। स्टेट इंस्टीट्युट ऑफ होटल मैनेजमेंट में सीधे दाखिले के साथ-साथ जिले के दस युवाओं को शासकीय मदद पर होटल मैनेजमेंट पाठ्यक्रम में दाखिला दिलाया जाएगा। चयनित इन दस विद्यार्थियों के शिक्षण शुल्क, हॉस्टल शुल्क और मेस आदि का खर्चा जिला प्रशासन द्वारा जिला खजिन न्यास मद से वहन किया जाएगा। स्टेट इंस्टीट्युट ऑफ होटल मैनेजमेंट में दाखिले के लिए ऐसे दस विद्यार्थियों का चयन जिला प्रशासन द्वारा गठित समिति करेगी। होटल मैनेजमेंट के डिग्री और डिप्लोमा कोर्सों में शासकीय मदद से प्रवेश के इच्छुक विद्यार्थी आठ सितंबर 2021 तक लाईवलीहुड कॉलेज कोरबा आईटीआई रामपुर परिसर में उपस्थित होकर आवेदन कर सकते हैं। सभी पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए विद्यार्थियों को किसी भी विषय में न्यूनतम 50 प्रतिशत अंको के साथ बारहवीं कक्षा उत्तीर्ण होना अनिवार्य है। विद्यार्थियों को त्रिवर्षीय बीएससी हॉस्पिटेलिटी एण्ड होटल एडमिनिस्ट्रेशन और 18-18 महीनों के डिप्लोमा इन फूड प्रोडक्शन, डिप्लोमा इन फूड एवं वेबरेज सर्विसेस तथा डिप्लोमा इन हाउस किपिंग ऑपरेशन्स पाठ्यक्रमों में प्रवेश दिलाया जाएगा। इस संबंध में अधिक जानकारी के लिए लाईवलीहुड कॉलेज के प्राचार्य श्री अरूणेन्द्र मिश्रा से मोबाइल नंबर 95895-83878 पर भी संपर्क किया जा सकता है।
जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री कुंदन कुमार ने बताया कि कोरबा जिले सहित पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण स्थानों पर संचालित होटलों में काम करने के लिए प्रशिक्षित युवाओं की मांग हमेशा बनी रहती है। कोरबा जिले सहित पूरा छत्तीसगढ़ प्रदेश पर्यटन की दृष्टि से देश में महत्वपूर्ण स्थान रखता है। रायपुर, बिलासपुर के बड़े निजी होटलों सहित शासकीय मोटल्स में भी ऐसे प्रशिक्षित युवाओं की आवश्यकता होती है। इन पाठ्यक्रमों से प्रदेश के युवाओं में रोजगार के अच्छे अवसर सृजित हो सकते हैं। उन्होंने बताया कि जिले के गरीब और खनन प्रभावित क्षेत्रों के बारहवीं कक्षा पास विद्यार्थियों को इन पाठ्यक्रमों में प्रवेश दिलाकर उन्हें रोजगार से जोड़ने की सरकार की योजना है। इसी योजना के तहत कोरबा जिले के दस विद्यार्थियों को शासकीय मदद पर होटल मैनेजमेंट के पाठ्यक्रमों में निःशुल्क प्रवेश दिलाया जाएगा।

Previous articleपांच वर्षों से लंबित मुआवजा प्रकरणों का तीन महीने में निपटारा, मिली पौने छह करोड़ रूपए की क्षति पूर्ति
Next articleछत्तीसगढ़: SECL कर्मचारियों को खदान ले जा रही बस नाले में गिरी, 50 से ज्यादा घायल, कई गंभीर