जांजगीर-चांपा। कलेक्टर जितेंद्र कुमार शुक्ला को वीडियो और पत्र के माध्यम से जम्मू कश्मीर के मारजाली रजित भाठा में जिले के 6 मजदूर श्रमिक परिवारों को ईंट भट्टा मालिक द्वारा बंधक बनाने की सूचना मिली थी. कलेक्टर ने प्राप्त सूचना पर त्वरित कार्रवाई करते हुए श्रम पदाधिकारी डॉ. के के सिंह को तत्काल इन 17 बंधक श्रमिकों को मुक्त करवाने त्वरित कार्रवाई के निर्देश दिए.
श्रम अधिक पदाधिकारी डॉ के के सिंह ने बताया कि कलेक्टर के निर्देश पर सूचना मिलते ही व्हाट्सएप के माध्यम से जम्मू कश्मीर राज्य के असिस्टेंट लेबर कमिश्नर से संपर्क कर श्रमिकों को विधिवत कार्रवाई कर मुक्त कराने का आग्रह किया गया.
असिस्टेंट लेबर कमिश्नर ने विधिवत कार्रवाई करते हुए जांजगीर-चांपा जिले के ग्राम खोखरा, अड़भार और उदयभाठा के 6 मजदूर कविता, लक्ष्मीन, कीर्तन, रूपा, गंगाराम, धन साय और उनके परिवार सहित कुल 17 सदस्यों को मुक्त कराकर भोजन तथा गृह ग्राम वापसी की टिकट की व्यवस्था करवाई गई. श्रमिकों को जम्मू स्टेशन तक छुड़वाया गया.
श्रमिकों ने पत्र के माध्यम से अवगत कराया था कि वे 25 अगस्त 2021 को मजदूरी के लिए जम्मू राज्य गए थे. 17 नवंबर को उनका काम समाप्त हो गया था. लेकिन ईटा भ_ा के मालिक न ही मजदूरी दी और न ही उन्हें वापस लौटने दिया जा रहा था. साथ ही वहां रहने के लिए खर्च के लिए पैसे भी नहीं मिल रहे थे.

Previous articleअब सक्ती राजा की राते महल में नही जेल की चारदीवारी में गुजरेंगी
Next articleअयोध्या से चुनाव लड़ेंगे योगी आदित्यनाथ, दिल्ली में भाजपा की उच्चस्तरीय बैठक में बनी सहमति