नईदिल्ली, २८ मई [एजेंसी]।
महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख का स्वस्थ्य खराब होने के बाद उन्हें अस्पताल के आईसीयू वार्ड में भर्ती कराया गया है। सीने में दर्द, हाई बीपी और कंधे में दर्द की शिकायत के बाद जेल से उन्हें मुंबई के केईएम अस्पताल में पहुंचाया गया। प्रवर्तन निदेशालय ने नवंबर 2021 में कथित मनी लॉन्ड्रिंग मामले में महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख पर कार्रवाई की थी। 72 वर्षीय पूर्व गृह मंत्री पर पद पर रहते हुए तत्कालीन सहायक पुलिस निरीक्षक सचिन वाझे के माध्यम से मुंबई में विभिन्न बारों व रेस्तरां से 4.70 करोड़ रुपये एकत्र करने के आरोप लगे थे।
ईडी ने दावा किया कि इस पैसे को नागपुर स्थित श्री साईं शिक्षण संस्थान में भेज दिया गया। जिसका नियंत्रण देशमुख का परिवार करता है। वहीं मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह ने भी पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख पर आरोप लगाए थे। उन्होंने कहा था कि पद पर रहते हुए अनिल देशमुख ने उनसे मुंबई के कुछ चुनिंदा पुलिस अधिकारियों को रेस्तरां और बार से प्रति माह 100 करोड़ रुपये वसूलने के लिए कहा था।
हालाकि अनिल देशमुख ने इन आरोपों से इन्कार किया। लेकिन बाद में आरोपों से घिरने कारण उन्हें अपना पद छोडऩा पड़ा था। सीबीआई ने बाद में उन पर भ्रष्टाचार के एक मामले में मामला दर्ज किया। अदालत ने हाल ही में अनिल देशमुख की ओर से कंधे की सर्जरी करवाने की अनुमति मांगने वाली एक याचिका को कोर्ट ने खारिज कर दिया था। जिसके बाद अब उनकी हालत खराब हुई है। उन्हें केईएम अस्पताल में आईसीयू वार्ड में भर्ती काराया गया है।

Previous articleपंचर बनाने वाला अनपढ़ निकला करोड़पति, एक साल में कमाए 7 करोड़
Next articleगुफा में मिला 1.३ लाख वर्ष पुराना दांत किसी इंसान के ब्लैक बाक्स से कम नहीं, सुलझेगी मानव विकास की गुत्थी