रायपुर। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में जनता कांग्रेस पार्टी के पदाधिकारियों ने छत्तीसगढ़ महतारी और पूर्व सीएम व पार्टी के संस्थापक अजीत जोगी की प्रतिमा लगाने का कार्यक्रम आयोजित किया था। कांग्रेस पार्टी के पदाधिकारी प्रतिमा लगाने निकले लेकिन बीच रास्ते में ही पुलिस के आला अफसरों ने इनका रास्ता रोक दिया। इस दौरान जनता कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता भड़क गए। इसके बाद पुलिस और जनता कांग्रेस पार्टी के नेताओं के बीच तीखी बहस भी हुई। मामला रायपुर के बीरगांव इलाके का है, जहां आज अमित जोगी और रेणु जोगी जनता कांग्रेस पार्टी के पदाधिकारी के साथ छत्तीसगढ़ महतारी और पूर्व सीएम व पार्टी के संस्थापक अजीत जोगी की प्रतिमा लगाने पहुंचे थे। प्रशासन की तरफ से प्रतिमा लगाने की जगह और अनुमति दोनों ही नहीं दी गई थी। बड़ी तादाद में पुलिसकर्मियों तैनाती की गई थी। इसके बावजूद पार्टी की तरफ से कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में गीत संगीत और लोक नृत्य का भी इंतजाम किया गया था। लोगों को संबोधन के बाद अमित जोगी और रेणु जोगी पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ कार्यक्रम स्थल के पास ही एक घर में रखी मूर्तियों को लाने के लिए आगे बढ़े। पार्टी की तरफ से कहा गया है कि सरकार कितना भी जोर लगा ले प्रतिमा तो स्थापति होकर रहेगी। फिलहाल प्रतिमाएं पार्टी के स्थानीय नेता के घर पर है