जांजगीर-चाम्पा। ज्ञानदीप उच्च माध्यमिक विद्यालय जांजगीर द्वारा संविधान दिवस हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस संबंध में संस्था के प्राचार्य डॉ. अखिलेश कटकवार ने बताया कि संविधान दिवस २६ नवम्बर को मनाया जाता हैं हमें खुशी होनी चाहिए कि इस संविधान ने जैसी आजादी दी हैं वैसा अन्य देशो में नहीं दिया गया हैं। संविधान को बनाने में २ साल ११ महीने १८ दिन लगें थे। इस के निर्माण करने वाले दादा साहेब भीमराव अम्बेडकर थे। इसके अध्यक्ष दादा साहेब थे और दुसरे प्रमुख सदस्य पंडित जवाहर लाल नेहरू, मौलाना अबुल कलाम आजाद थे। ११ दिसंम्बर १९४६ को दूसरे स्थायी सदस्य राजेन्द्र प्रसाद शुक्ला थे। संविधान में ४६५ अनुच्छेद और १२ अनुसूचियां हैं। रासेयो के कार्यक्रम अधिकारी आर.सी. देवांगन ने बताया कि संविधान को हाथों से लिखा गया था क्यंोकि उस समय टायपिंग मशाीन व कम्प्यूटर नहंीं था। प्रेम बिहारी नरायण संविधान को हिन्दी एवं अंग्रेजी में लिखते थे। दूसरा खानदानि पेशा कै लियोग्राफी था। संविधान के हर पेज को चित्रों से सजाया जाता था। संविधान के मूल प्रति को आज भी हीलियम में आज भी रखी गयी हैं। संविधान के कानून सभी नागरीकों के लिये समान हैं। संविधान ने हमें बहुत कुछ अधिकार दिया गया हैं इसे व्यवहार के रूप में मानना चाहिये। इस दौरान संस्था के अन्य शिक्षक गजेन्द्र कुमार पटेल, पंचराम कहरा, पाली सर, मेघनाई, जोलहे आदि उपश्थित थे।