सक्ती। ट्रक की ठोकर से बोलेरो सवार तीन लोगों की मौत हो गई। ये लोग शादी में शामिल होने जशपुर से बिलासपुर जा रहे थे। तीनों राष्ट्रीय राजमार्ग बनाने वाली ब्लूम कंपनी के कंसल्टेंट इंजीनियर थे। वहीं दो लोग घायल हो गए, इन्हें उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सक्ती में भर्ती कराया गया। उनकी गंभीर स्थिति को देखते हुए प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया।
जानकारी के अनुसार जशपुर से बोलेरो क्रमांक बीआर 01 पीजे 3168 में एनएच सडक़ बनाने वाली ब्लूम कंपनी के कंसल्टेंट इंजीनियर ससनापुरी आंध्रप्रदेश निवासी लोकनाथन 58, सासाराम बिहार निवासी बीपी सिंह, विक्रम इंद्रजीत राय शादी में शामिल होने बिलासपुर जा रहे थे। उनके साथ जशपुर निवासी बिंदेश्वर राम विश्वकर्मा पिता सुखदेव राम, अलवर हैदराबाद निवासी येल्लूरी सत्यनारायण राव पिता वाय एम राव भी थे। बोलेरो को बिंदेश्वर राम चला रहा था। शाम लगभग 4.30 बजे बोलेरो नेशनल हाइवे में ग्राम केसला के पेट्रोल पंप के पास पहुंची थी कि बाराद्वार की ओर से जा रही ट्रक क्रमांक सीजी 13 एलए 5469 के चालक ने बोलेरो को ठोकर मार दी। इससे उसके परखच्चे उड़ गए और बोलेरो में सवार तीनों इंजीनियर लोकनाथन, बीपी सिंह और विक्रम इंद्रजीत राय की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि बोलेरो चालक बिंदेश्वर राम विश्वकर्मा और येल्लूरी सत्यनारायण राव घायल हो गए। दुर्घटना के बाद मौके पर लोगों की भीड़ लग गई और डायल 112 को सूचना दी गई। मौके पर डायल 112 की टीम पहुंची और घायलों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सक्ती में भर्ती कराया गया। जबकि ट्रक चालक ग्राम गमजू थाना तखतपुर निवासी सुंदर सिंह पिता मानसिंह को पुलिस ने भादिव की धारा 304 ए के तहत अपराध दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया। दुर्घटना के बाद मौके पर अफरा-तफरी मच गई। घायल व मृतकों की पहचान नहीं हो पा रही थी। बड़े हादसे के बाद घायल भी कुछ बोलने की स्थिति में नहीं थे। ऐसे में मृतकों व घायलों के पर्स से आधार व पेनकार्ड निकालकर उनकी पहचान की गई। कंपनी के अधिकारियों से संपर्क के बाद मृतकों का नाम और पता चल सका।