कोरबा। भले ही कोरोना की तीसरी लहर जब आए लेकिन इससे पहले एक बार फिर कोरबा क्षेत्र में कोरोना संक्रमण ने रफ्तार बढ़ानी शुरू कर ली है। कोयलांचल मानिकपुर के अंतर्गत अमीषापारा में इसका असर देखने को मिला। दो स्कूली बच्चों सहित 12 लोग इलाके में संक्रमित मिलने से हड़कंप मची है। इन कारणों से अब इलाके के कोई भी विद्यालय नहीं संचालित होंगे। पालक समिति ने मिलकर यह तय कर लिया। कुल मिलाकर अब ऑनलाइन मोड पर ही छात्रों को शिक्षा से जोड़ा जाएगा।
पिछले वर्ष से जारी कोरोना संक्रमण के खतरे किसी तरह थमते हुए नजर आ रहे थे लेकिन अब एक बार फिर से खतरे बढ़ने लगे हैं। पिछले दिनों प्रदेश सरकार ने सीमित उपस्थिति के साथ 2 अगस्त से विद्यालयों में केवल 10वीं और 12वीं की कक्षाएं संचालित करने के निर्देश दिए थे। गजब तब हो गया जब इस दिन छोटे बच्चे भी स्कूल में पहुंचे और उनकी मौजूदगी में प्रवेशोत्सव मनाया गया। उनके स्वागत सत्कार की परंपरा भी निभाई गई। इधर कोरबा जिले में नगर निगम क्षेत्र के अंतर्गत मानिकपुर वार्ड में एक सरकारी विद्यालय में आने वाले दो बच्चों को कोरोना संक्रमित पाये जाने के बाद संपर्क में आने वाले अन्य बच्चे और शिक्षक भयभीत हैं। इनके अलावा मानिकपुर वार्ड के अमीषापारा में कुछ लोगों को भी संक्रमित पाया गया है। एक ही दिन में इलाके में 12 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। इनकी रिपोर्ट उजागर होने से लोगों में डर फैलना स्वाभाविक था। मौजूदा स्थिति को देखते हुए क्षेत्र के पार्षद ने विभिन्न विद्यालयों के शिक्षकों और पालक समिति की बैठक की। इसमें कोरोना संक्रमण की अद्यतन स्थिति और इसके दुष्प्रभाव को लेकर चर्चा की गई। तय किया गया कि तत्काल प्रभाव से स्कूलों को बंद किया जाए। अगली स्थिति तक प्रत्यक्ष रूप से शैक्षणिक गतिविधियों को संचालित नहीं किया जाए। जो लोग संक्रमित हैं वे सतर्कता के साथ रहें। जबकि अन्य सभी विद्यालयों से संबंधित छात्रों को ऑनलाइन मोड पर पढ़ाया जाए।
इलाके को बनाया कंटेनमेंट जोन, जांच भी
हालात बिगड़ने के कारण हर किसी का डरना जरूरी है। मानिकपुर के एक इलाके में दो छात्रों के कोरोना संक्रमित पाए और मोहल्ले के कुछ और लोगों में लक्षण मिलने पर प्रशासन हरकत में आ गया। इस क्षेत्र को तत्काल प्रभाव से कंटेनमेंट जोन घोषित करने के साथ जरूरी कार्यवाही की जा रही है। क्षेत्र की घेराबंदी करने के साथ वहां कंटेनमेंट जोन के पोस्टर लगाए गए हैं। लोगों को कहीं भी आवाजाही नहीं करने के लिए कहा गया। पुलिस की टीम आज यहां पर पहुंची थी। उनकी उपस्थिति में क्षेत्र के लोगों का कोविड टेस्ट किया गया।
दो बच्चों में संक्रमण
हमारे विद्यालय में आने वाले बच्चों में से दो कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। पिछले कुछ दिनों से मोहल्ला क्लास चलाई जा रही थी जिसमें सीमित बच्चे उपस्थित हो रहे थे। इन्हीं में से दो की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। संबंधित बच्चे अमीषापारा के हैं। आसपास का क्षेत्र भी प्रभावित है इसलिए आगामी निर्देशों तक ऑफलाइन मोड में अध्ययन-अध्यापन बंद रहेगा।
सुरेश वस्त्रकार, प्रधान पाठक, माध्यमिक शाला मानिकपुर
समिति ने लिया निर्णय
स्थानीय स्थिति को ध्यान में रखते हुए निर्णय लिया गया है कि वार्ड के अंतर्गत शैक्षणिक कार्य फिलहाल ऑफलाइन मोड में ना कराया जाए। शिक्षकों के साथ पालक समिति ने इस बारे में बैठक कर कोरोना की स्थिति पर चर्चा की। अभिभावक अपने बच्चों को विद्यालय भेजने के पक्ष में नहीं हैं। इसलिए खतरों को सामान्य होने तक प्रतीक्षा की जाएगी।
– फूलचंद सोनवानी, पार्षद, मानिकपुर वार्ड