कोरबा। नगर और उप नगरीय क्षेत्रों के साथ अंचल में वट सावित्री की पूजा हिंदू महिलाओं ने की। उन्होंने पति के दीर्घ जीवन के लिए व्रत रखा। वट वृक्ष की पूजा करने के साथ उसकी परिक्रमा की और कलावा बांधा। तापमान की अधिकता को देखते हुए आज अधिकतम स्थानों पर सूर्योदय के समय पर ही पूजा-पाठ की गई। आरती से पहले व्रतियों ने वट सावित्री से संबंधित कथा का श्रवण किया। नवरात्र पूजा का पूरा दौर कोरोना कालखंड में बीतने के कारण महिलाओं ने आज इस खास अवसर पर कन्याओं का पूजन करने के साथ उन्हें दक्षिणा भी भेंट की।