जगदलपुर /छत्तीसगढ़ के नारायणपुर जिले में शनिवार देर रात नक्सलियों ने BSF के जवानों पर अचानक हमला कर दिया। बताया जा रहा है कि, जवान माइंस इलाके में सुरक्षा दे रहे थे। इस बीच जंगल की तरफ से अचानक पहुंचे नक्सलियों ने जवानों पर पहले रॉकेट लॉन्चर दागा, फिर अंधाधुंध फायरिंग करनी शुरू कर दी, हालांकि जवानों ने मोर्चा संभाला और नक्सलियों को मुंहतोड़ जवाब दिया।

फाइल फोटो
जवानों की जवाबी कार्रवाई के चलते नक्सली जंगल का सहारा लेकर भाग निकले। यहां दोनों तरफ से करीब आधे घंटे तक फायरिंग चलती रही। राहत की बात यह है कि इस घटना में कोई भी हताहत नहीं हुआ है। इस घटना की पुष्टि नारायणपुर SP उदय किरण ने की है।

रावघाट के अंजरेल की पहाड़ियों में मौजूद थे जवान
जानकारी के मुताबिक, नारायणपुर-कांकेर जिले के बॉर्डर इलाके में धुर नक्सल प्रभावित रावघाट के अंजरेल की पहाड़ियों में जवान मौजूद थे। जवान कैंप से इलाके में सर्चिंग के लिए निकले थे और माइंस इलाके में सुरक्षा दे रहे थे।। इस बीच पहले से ही घात लगाकर बैठे माओवादियों ने फोर्स पर हमला कर दिया था।

मुठभेड़ खत्म होने के बाद BSF के जवान इलाके की सर्चिंग कर रहे हैं। पता चला है कि जिस ओर से नक्सलियों ने फायरिंग की थी उसी तरफ अब फोर्स सर्चिंग करते हुए आगे बढ़ रही है। इधर, जवाबी कार्रवाई में नक्सलियों को कितना नुकसान हुआ है, यह सर्चिंग के बाद ही पता लग पाएगा।

Previous articleमेहर वाटिका के सामने मालगाड़ी की चपेट में आने से एक व्यक्ति की मौत
Next articleमुख्यमंत्री भूपेश बघेल का बड़ा फैसला, छत्तीसगढ़ में टी कॉफी बोर्ड का किया जाएगा गठन …