नई दिल्ली: पंजाब में सत्तारूढ़ कांग्रेस में चल रही कलह को दूर करने के मकसद से गठित तीन सदस्यीय समिति ने आज भी विधायकों के साथ बैठक की. इस बैठक में पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू भी पहुंचे. इससे पहले इस समिति ने सोमवार को प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सुनील जाखड़ और 20 से अधिक विधायकों से मुलाकात कर उनकी राय सुनी.

बैठक के बाद नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि योद्धा वही है जो रण के अंदर जूझे. उन्होंने कहा, ”हाईकमान के बुलावे पर आया. पंजाब की आवाज मैं पहुंचाने आया हूं. सबसे बड़ी बात कि जो मेरा स्टैंड था, है और रहेगा. पंजाब लोगों की लोकतांत्रित ताकत जो सरकार को जाती है, टैक्स जो सरकार तक जाती है, वो लोगों तक पहुंचे.”

नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा, ”सत्य प्रताड़ित हो जाता है, पराजित नहीं होता है. योद्धा वही जो जूझे रण के अंदर. मित्र वही जो समय पर काम आए. पंजाब के सच और हक की आवाज हमने हाईकमान को बुलंद आवाज में बताई है. जीतेगा पंजाब ही.”

राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे समिति के प्रमुख हैं. कांग्रेस महासचिव और पंजाब प्रभारी हरीश रावत और दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जेपी अग्रवाल इस समिति में शामिल हैं.

गौरतलब है कि हाल के कुछ हफ्तों में अमरिंदर सिंह और सिद्धू के बीच तीखी बयानबाजी देखने को मिली है. विधायक परगट सिंह और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कुछ अन्य नेताओं ने भी मुख्यमंत्री के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है. ये विवाद ऐसे समय में हो रहा है जब अगले साल राज्य में चुनाव होने वाले हैं.