तोड़े तीन मकान, खरही को भी नुकसान पहुंचाया
कोरबा। जिले के वन मंडल कटघोरा के पसान रेंज में हाथियों की समस्या खत्म होने का नाम ही नहीं ले रही है। बीती रात ३ बजे के लगभग ४० की संख्या में अचानक पहुंचे हाथियों के झूण्ड ने रेंज के पीपरिया गांव में भारी उत्पात मचाया।
इस दौरान हाथियों ने यहां ३ ग्रामीणों के मकान ढहा दिये तथा कुछ ग्रामिणों के खलिहान में रखे धान की खरही को नुकसान पहुंचाया। जिससे ग्रामीणों को काफी क्षति पहुंची है। जानकारी के अनुसार गांव में हाथियों ने जिस समय ३ ग्रामीणों के मकान तोड़े उस समय इन मकानों में कोई भी लोग मौजूद नहीं थे। वन विभाग को हाथियोंं के क्षेत्र में आने की भनक पहले ही लग गई थी। सो रेंजर निश्चल शुक्ला, डिप्टी रेंजर अखण्ड सिंह एवं कौशिक के नेतृत्व में हाथी मित्र दल के सदस्य व वन विभाग के कर्मचारी गांव में पहुंच गये थे। पुलिस ११२ वाहन भी साथ था। ग्रामीणों को सतर्क करने के साथ ही सुनसान क्षेत्र में स्थित मकान में रह रहे लोगों को सुरक्षित स्थान पर भेज दिया गया था। वन विभाग के सक्रियता से कोई जनहानी नहीं हुई। हाथियों को वन विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा खदेड़े जाने पर सुबह जब जंगल का रूख किया तो ग्रामीणों ने राहत की सांस ली। इससे पहले हाथियों के उत्पात से ग्रामीण काफी सहमे रहे। हाथियों ने जाते समय सिर्री पंचायत के सुवार घुटरा मोहल्ला में कृषक सरमान सिंह के खलिहान में रखे धान की खरही को तहस-नहस करने के बाद उसके मकान को भी निशाना बनाया।
हाथियों के हमले में कृषक का मकान बूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। उधर कटघोरा डीविजन के ही केंदई रेंज में विचरणरत ७ हाथियों ने सरगूजा का रूख कर लिया है। सरगुजा की सीमा पर प्रवेश करने से पहले हाथियों ने केंदई रेंज के कर्राबारी में कहर बरपाया। हाथियों ने हाईवे के किनारे स्थित एक ढाबे को ढहा दिया।