बम्हनीडीह। क्षेत्र के ग्राम पोड़ी शंकर में जुआरियों की गतिविधियां तेज है। इस गांव में रोज हजारों रूपए के जुए का फड़ लग रहा है। यहां सुबह से शाम तक खेत खार में जुआ चलता है।
जुआ अब चोरी छिपे नहीं बल्कि खुलेआम हो रहा है। ताश के पत्तो पर हजारों लाखों के दांव लग रहे हैं। इस जुए ने न जाने कितने ही परिवारों को बर्बाद कर दिया है। क्षेत्र के युवा जुए की इस बुरी लत में फंसते जा रहे हैं। युवाओं का भविष्य बर्बाद करने वाले इन जुआरियों को अब पुलिस व कानून का भी कोई डर नहीं है। जिसके चलतेरोज दांव लग रहा है। ऐसा नहीं है कि पुलिस को इसकी जानकारी नहीं है। मगर पुलिस द्वारा कार्रवाई नहीं किये जाने से जुआरियों के हौसले बुलंद हैं। पोड़ीशंकर के फड़ में दूर दराज के जुआरी भी जुआ खेलने पहुंचते हैं और सुबह से रात तक दांव लगता है। गांव में चार पांच जगह फड़ लगाकर जुआ खेला जा रहा है। क्षेत्र के युवा पूरी तरह से जुए की लत में हैं। दिन हो चाहे रात जब चाहे तब फड़ लग रहा है।
मजबूत है जुआरियों का सूचना तंत्र
लोगों का कहना है कि जुआरियों के मुखबिर काफी सजग हैं। वे हर व्यक्ति पर नजर रखते हैं, जैसे ही कोई जुआ फड़ के रास्तेकी ओर आता है तो उसका लोकेशन और हुलिया पहले ही जुआरियों को पता चल जाता है। मुखबिरों को भी जुआ संचालक बड़ी राशि भुगतान करते हैं।
ब्याज का धंधा जोरों पर
जुए के फड़ में साहूकार मोटी रकम लेकर पहुंचते है, जहां पर जुआरी जुए में रकम हारने के बाद तुरंत अधिक ब्याज पर राशि लेते हैं और फिर दांव लगाते हैं। ब्याज के इस धंधे में सूद खोर तो मालामाल हो रहे हैं मगर ब्याज लेने वाले बर्बाद हो रहे हैं।
जुआ चल रहा है तो इसकी जानकारी ली जाएगी। पेट्रोलिंग के दौरान तो इसका पता नहीं च ला है।
कमल किशोर महतो
थाना प्रभारी बम्हनीडीह

Previous articleजनहित से जुड़े कार्यों को समयसीमा में पूरा करने पर हो ध्यान: मुख्य सचिव
Next articleंआरपीएफ ने रोका रेलवे की जमीन पर दूसरे विभाग के काम को