कोरबा। क्राइम का नशा भी कितना भयानक होता है. लोगों को बिना अपराध किए नींद नहीं आती. अपराधों को देखकर लग रहा है क्रिमनल्स को कितना भी सुधारने की कोशिश करो, लेकिन अपनी हरकतों से बाज नहीं आते. हाल ही में कोरबा में हैरान करने वाली तस्वीर देखने को मिली, जहां पैरोल से छूटकर आए कुछ चोर फिर से चोरी की वारदात को अंजाम देने लगे थे, लेकिन पुलिस ने शातिरों के मंसूबे पर पानी फेर दिया.

दरअसल, कोरोना संक्रमण की वजह से कुछ कैदियों को जेल से पैरोल पर छोड़ दिए गए थे, जिसमें से कुछ शातिर फिर से अपनी बीती हुई कहानी दोहराने लगे थे. कोतवाली पुलिस ने आपराधिक तत्वों की धरपकड़ करने के लिए विशेष अभियान शुरू किया है. इसी कड़ी में सूरज यादव और अजय साहू को गिरफ्तार किया गया. इनके कब्जे से चार बाइक बरामद की गई है.

बताया गया कि आरोपियों ने निहारिका और कोरबा के कोर्ट क्षेत्र से वाहन पार किए थे. पीड़ितों ने इसकी रिपोर्ट कोतवाली थाने में दर्ज कराई थी. मामला दर्ज करने के साथ पुलिस इस सिलसिले में जांच पड़ताल कर रही थी. कोतवाली प्रभारी विवेक शर्मा और उनके नेतृत्व में एक टीम ने इन आरोपियों के बारे में जानकारियां जुटाई गई. आरोपियों के कब्जे से चार बाइक बरामद की गई.

प्रेस कॉन्फ्रेंस में एडिशनल एसपी कीर्तन राठौर ने बताया कि आरोपी सूरज यादव इससे पहले लूट के मामले में लिप्त रहा है. कुछ दिन पहले ही वह पैरोल पर रिहा हुआ था. पुलिस को भरोसा है कि इन आरोपियों के पास से और भी मामलों के बारे में जानकारी मिल सकती है. कुछ सामानों की बरामदगी हो सकती है. इस सिलसिले में उससे लगातार पूछताछ की जाएगी.