नईदिल्ली, २३ फरवरी [एजेंसी]। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पोंजी घोटाले में शामिल नोएडा की कंपनी ‘बाइक बोटÓ के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग मामले में शनिवार को दिल्ली और यूपी में करीब 12 जगहों पर छापे मारे।
अधिकारियों ने बताया, ‘बाइक बोटÓ मामले दिल्ली, नोएडा और लखनऊ समेत 12 जगहों पर तलाशी ली गई। इस दौरान बड़ी संख्या में घोटाले से जुड़े दस्तावेज और संपत्तियों के कागजात जब्त किए गए। अधिकारियों के मुताबिक, ग्रेटर नोएडा बाइक बोट टैक्सी सेवा पर उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान तथा हरियाणा समेत कई राज्यों में 2.25 लाख निवेशकों से 3,000 से 4,000 करोड़ रुपये की ठगी करने का आरोप है। नोएडा पुलिस ने बाइक बोट कंपनी के प्रमुख संजय भाटी समेत कंपनी के 12 से अधिक अधिकारियों को जेल भेज दिया है, जबकि कुछ लोग अब भी फरार हैं। ग्रेटर नोएडा में गर्वित इनोवेटिव प्रमोर्ट्स लिमिटेड (जीआईपीएल) बहुस्तरीय मार्केटिंग योजना ‘बाइक बोटÓ लेकर आई और निवेशकों को एक साल में दोगुना पैसा देने का लालच दिया। पुलिस के अनुसार, कंपनी ने मोटरसाइकिल टैक्सी के 62,100 रुपये का निवेश मांगा और महज एक साल में दोगुनी रकम देने के अलावा हर महीने मुनाफा देने का वादा किया, लेकिन इसे पूरा नहीं कर पाई।