बालकोनगर। वेदांता समूह की कंपनी भारत एल्यूमिनियम कंपनी लिमिटेड (बालको) ने प्रतिष्ठित नेशनल अवार्ड ऑफ मैन्यूफैक्चरिंग कॉम्पिटिटिवनेश (एनएएमसी) – 2019-20 में स्वर्ण पदक हासिल किया। 13 फरवरी, 2021 को आयोजित एक वर्चुअल समारोह में पुरस्कार बालको के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं निदेशक श्री अभिजीत पति ने ग्रहण किया। यह पुरस्कार लागत में रणनीतिक कटौती, मूल्य सवंर्धित धातु के उत्पादन, क्षमता विस्तार, कोयले की उपलब्धता, नेतृत्व आदि क्षेत्रों में बालको के उत्कृष्ट प्रबंधन का द्योतक है।
श्री पति ने पुरस्कार का श्रेय बालको परिवार को देते हुए कहा कि व्यावसायिक वातावरण तेजी से बदल रहा है। दुनिया के दूसरे सबसे महत्वपूर्ण धातु एल्यूमिनियम के उत्पादन के क्षेत्र में बालको साढ़े पांच दशकों से कार्यरत है। बालको ने एल्यूमिनियम के क्षेत्र में देश को आत्मनिर्भर बनाने में योगदान करते हुए विश्व के एल्यूमिनियम नक्शे में विशेष पहचान बनाई है। वर्तमान में बालको देश की कुल एल्यूमिनियम क्षमता का 15 फीसदी उत्पादन करता है। बालको ने विश्वस्तरीय प्रचालन प्रबंधन और उच्च गुणवत्ता के मूल्य सवंर्धित उत्पादों के जरिए भविष्य के धातु एल्यूमिनियम के उत्पादन को नई ऊंचाइयां दी हैं।
एल्यूमिनियम उत्पादन के क्षेत्र में वैश्विक स्पर्धा को देखते हुए बालको माल की ढुलाई को जीपीएस आधारित निगरानी प्रणाली से लैस किया है। इसके साथ ही सस्टेनिबिलिटी मोबाइल एप, प्रचालन में स्मार्ट एआई प्रणाली, डाटा आधारित एनालिटिक्स आदि अत्याधुनिक तकनीकों के माध्यम से व्यवसाय के लक्ष्यों को पाने की दिशा में बालको अग्रसर है।
इंटरनेशनल रिसर्च इंस्टीट्यूट फॉर मैन्यूफैक्चरिंग (आईआरआईएम) ने वर्ष 2013 में एनएएमसी की स्थापना की। इस पुरस्कार योजना में कंपनियों की गैर पारंपरिक कार्य शैली और प्रबंधन के क्षेत्र में उनकी रणनीति की समीक्षा की जाती है। निर्णायक मंडल देश की ऐसी उत्पादक इकाइयों की पहचान करता है जो अपनी उत्पादन प्रक्रियाओं में विश्वस्तरीय कार्य शैली का अनुसरण तथा नए मानदंड स्थापित करते हुए मिसाल कायम करते हैं।
भारत एल्यूमिनियम कंपनी लिमिटेड (बालको) देश की प्रमुख एल्यूमिनियम उत्पादक इकाई है। कंपनी की 49 फीसदी अंशधारिता भारत सरकार के और 51 फीसदी अंशधारिता वेदांता लिमिटेड के स्वामित्व में है। वेदांता लिमिटेड दुनिया की 6वीं सबसे बड़ी वैविध्यीकृत प्राकृतिक संसाधन कंपनी है तथा यह कंपनी देश में एल्यूमिनियम का सबसे अधिक उत्पादक करती है। बालको द्वारा कोरबा में 0.57 मिलियन टन प्रति वर्ष उत्पादन क्षमता के एल्यूमिनियम स्मेल्टर का प्रचालन किया जाता है। बालको मूल्य संवर्धित एल्यूमिनियम उत्पादों की अगुवा कंपनी है जिसके उत्पादों का महत्वपूर्ण अनुप्रयोग कोर उद्योगों में किया जाता है। विश्वस्तरीय स्मेल्टर और बिजली उत्पादक संयंत्रों के साथ बालको का ध्येय ‘भविष्य की धातु’ एल्यूमिनियम को उभरते अनुप्रयोगों हेतु प्रोत्साहित करते हुए हरित एवं समृद्ध कल के लिए योगदान करना है।