बलरामपुर 17 अक्टूबर2021 – छत्तीसगढ़ में खनन माफियाओं का आतंक किस कदर बुलंद है, इसकी बानगी बलरामपुर में देखी जा सकती है। शनिवार की देर रात खनन माफियाओं ने तहसीलदार की गाड़ी पर हमला करते हुए जमकर पत्थरबाजी कर दी, हालात ऐसे बने कि तहसीलदार और उनकी टीम को मौके से बिना कार्रवाई किये ही जान बचाकर पीछे हटना पड़ा। अब इस पूरे घटनाक्रम पर बलरामपुर के नवपदस्थ कलेक्टर कुंदन कुमार एक्शन में है……उन्होने ऐसे माफियाओं पर कड़ी कार्रवाई करने के साथ ही अवैध तरीके से रात के वक्त संचालित रेत खदानों का लाईसेंस तत्काल प्रभाव से निरस्त करने की बात कही है। गौरतलब है कि अब तक आपने खनन माफियाओं के आतंक की कहानी मध्यप्रदेश में ही देखी और सुनी होगी, लेकिन अब माफियाओं के हौसले छत्तीसगढ़ में किस कदर बुलंद है, इसकी हकीकत बलरामपुर में शनिवार की रात देखी गयी। बताया जा रहा है कि बलरामपुर कलेक्टर कुंदन कुमार ने अपनी पदस्थापना के बाद ही अवैध खनन और परिवहन पर सख्ती बरतते हुए तत्काल कार्रवाई का निर्देश दे रखा है। जिला प्रशासन और राजस्व विभाग की टीम लगातार छापामार कार्रवाई कर अवैध खनन के खिलाफ कार्रवाई कर रहे है। ऐसे में खनन माफियाओं में भी जबर्दस्त गुस्सा देखा जा रहा है। शनिवार की देर रात डेढ़ बजें के लगभग तहसीलदार विनीत सिंह अपनी टीम के साथ सनावल थाना क्षेत्र में अवैध खनन की शिकायत पर कार्रवाई के लिए पहुंचे थे। पुलिस मौके पर पहुंचती उससे पहले ही तहसीलदार की टीम मौके पर पहुंच गयी, अवैध रेत का खनन देर रात भी चाूल था, रेत से भरी ट्रके सड़को पर खड़ी थी, लिहाजा तहसीलदार विनीत सिंह कार्रवाई करने के लिए गाड़ी से उतरे ही थे कि खनन माफिया के गुर्गों ने प्रशासन की टीम पर पत्थरबाजी शुरू कर दी। पत्थरबाजी की इस घटना में तहसीलदार की गाड़ी बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गयी है, वही लगातार हो रहे पत्थरबाजी के बीच किसी तरह जान बचाकर तहसीलदार और उनकी टीम मौके से निकल पाई। खनन माफियाओं के आतंक का शिकार हुए तहसीलदार ने रात को ही पूरे घटनाक्रम की जानकारी कलेक्टर कुंदन कुमार को दी। जिसके बाद अब पुलिस और जिला प्रशासन संयुक्त रूप से खनन माफियाओं के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करने की बात कह रहे है। खैर वजह जो भी बलरामपुर जिला रेत माफियाओं के आतंक से थर्राया हुआ है। उत्तर प्रदेश की सीमा से लगे होने के कारण यूपी के खनन माफिया सीधे बलरामपुर से रेत की चोरी कर मोटा मुनाफा कमा रहे है। ऐसे में जब नव पदस्थ कलेक्टर कुुंदन कुमार ने इस माफियागिरी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया, तो खनन माफिया बौखला गये है और अब प्रशासन की टीम पर हमला करने से भी गुरेज नही कर रहे है। ऐसे में अब ये देखने वाली बात होगी कि इस पूरे घटनाक्रम के बाद पुलिस और प्रशासन आने वाले वक्त में खनन माफियाओं पर किस हद तक नकेल कस पाता है, ये तो आने वाला वक्त ही बतायेगा।

कलेक्टर कुंदन कुमार ने बताया कि…क्षेत्र में अवैध खनन के खिलाफ जिला प्रशासन लगातार कार्रवाई कर रहा है, शनिवा की रात भी तहसीलदार विनीत सिंह और उनकी टीम सनावल थाना क्षेत्र में कार्रवाई के लिए पहुंचे थे, लेकिन वहां तहसीलदार की कार्रवाई से पहले ही वहां मौजूद लोगों ने पत्थरबाजी कर दी। इस घटना में तहसीलदार की गाड़ी को नुकसान पहुंचा है। घटना की जानकारी मिलते ही मैने एस.पी. से बात की है और जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार किया जायेगा। इसके साथ ही क्षेत्र में अवैध तरीके से रात के वक्त रेत घाट में खनन और भंडारण करने वाले संचालको के खिलाफ भी कार्रवाई करते हुए उनका लाईसेंस तत्काल निरस्त किया जायेगा।

वही सनावल थाना प्रभारी सब इंस्पेक्टर अमित कुमार ने बताया कि…कल शनिवार की रात वो भी अपनी टीम के साथ बार्डर को सील कर खनन माफियाओं की गाड़ियों पर कार्रवाई कर रहे थे। इसी बीच उनके पास तहसीलदार विनीत सिंह का फोन आया, कार्रवाई के लिए संयुक्त रूप से निकलते तभी उन्होने बीच रास्तें में कुछ गाड़ियों पर कार्रवाई करना शुरू किया, इसी दौरान उन पर वहां मौजूद चालक और उनके साथियों ने पत्थरबाजी कर दी। घटना की जानकारी के बाद पुलिस टीम आरोपियों की सरगर्मी से तलाश कर रही है, जल्द ही सारे आरोपी पकड़े जायेगें।

Previous articleकलमीटिकरा पहुंचे तीन हाथी, 22 परला पहाड़ में
Next articleमालगाड़ी से कटकर मौत