पटना, १९ मई [एजेंसी]।
बिहार में मंगलवार की सुबह बड़ा हादसा हुआ है। प्रवासी श्रमिकों को दरभंगा से बांका ले जा रही एक बस पाइप लदे ट्रक से टकरा गई। आमने-समाने की इस टक्कर में ट्रक सडक़ किनारे खाई में गिर गई। बताया जा रहा है कि ट्रक में भी करीब एक प्रवासी श्रमिक सवार थे। वे मलबे के नीचे दब गए हैं। राहत व बचाव कार्य के बीच नौ श्रमिकों के शव निकाले जा चुके हैं। जबकि, चार घायल हैं।
मिली जानकारी के अनुसार प्रवासी श्रमिकों को दरभंगा से बांका ले जा रही बस एक ट्रक से आमने-सामने टकरा गई। दुर्घटना भागलपुर के नवगछिया के अंभो चौक के पास राष्ट्रीय उच्च पथ 31 पर मंगलवार की सुबह हुई। दुर्घटना में नवगछिया की तरफ से मुजफ्फरपुर जा रहा पाइप लदा ट्रक सडक़ किनारे खाई में गिर गया। उसके नीचे करीब एक दर्जन श्रमिक दब गए हैं। राहत व बचाव कार्य के बीच अभी तक नौ मजदूरों के शव निकाले जा चुके हैं। जबकि चार घायल बताए जा रहे हैं। लॉकडाउन के कारण देश में जहां-तहां फंसे श्रमिक किसी न किसी साधन से घर पहुंच रहे हैं। ट्रक पर भी प्रवासी श्रमिक थे, जो नवगछिया तेतरी जीरोमाइल के पास चढ़े थे। सभी बांका के रहने वाले बताए जा रहे हैं।
महाराष्ट्र के यवतमाल जिले में प्रवासी मजदूरों को ले जा रही एक बस के मंगलवार तडक़े सडक़ पर खड़े एक ट्रक से टकराने पर तीन प्रवासी मजूदरों तथा बस चालक की मौत हो गई और 22 अन्य घायल हो गए। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नूरुल हासन ने बताया कि घटना कोलवन गांव में तडक़े साढ़े तीन बजे हुई, जब बस सोलापुर से नागुपर रेलवे स्टेशन जा रही थी। प्रवासी मजदूरों को स्टेशन से झारखंड जाने वाली श्रमिक विशेष ट्रेन पकडऩी थी। उन्होंने बताया कि बस चालक के वाहन पर से संतुलन खोने के बाद वाहन सडक़ पर खड़े एक ट्रक से जा टकराया। ट्रक में सडक़ निर्माण का सामान था। अधिकारी ने बताया कि तीन प्रवासी मजदूर और बस चालक की हादसे में मौत हो गई। 22 अन्य घायल हुए हैं, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उन्होंने बताया कि पुलिस ने दुर्घटनावश मौत का मामला दर्ज कर लिया है।
पुलिस ने बताया, ट्रक का एक टायर फट जाने की वजह से यह हादसा हुआ। क्रेन से सामान हटाकर दबे मजदूरों को बाहर निकाला गया। मौके पर ही मजदूरों की मौत हो गई। इससे पहले सोमवार दोपहर 22 प्रवासी मजदूर छतरपुर के हरपालपुर से ट्रक में सवार हुए थे। देर रात कुलपहाड़ तहसील के कमालपुरा गांव के सामने महुआ बांध के अंधे मोड़ पर हादसा हो गया।