अहमदाबाद- टीम इंडिया ने इंग्लैंड को अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खेले गए चौथे टेस्ट में तीसरे दिन ही पारी और 25 रन से शिकस्त दी। इसी के साथ 4 टेस्ट की सीरीज 3-1 से जीत ली। टीम इंडिया ICC वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल में पहुंच गई। अब उसका खिताबी मुकाबला 18 जून को लॉर्ड्स में न्यूजीलैंड से होगा।
टीम इंडिया को सीरीज जिताने में रोहित शर्मा और ऋषभ पंत के साथ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन और अक्षर पटेल की अहम भूमिका रही है। रोहित सीरीज में सबसे ज्यादा 345 रन बनाने वाले भारतीय रहे। दूसरे नंबर पर पंत ने 270 रन बनाए। रोहित ने 161 रन और पंत ने 101 रन की शतकीय पारी भी खेली।

भारत ने टेस्ट चैम्पियनशिप में सबसे ज्यादा 12 मैच जीते
पहली बार हो रही ICC वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप में टीम इंडिया अब तक की सबसे सफल टीम रही है। उसने 21 में से सबसे ज्यादा 12 मैच जीते हैं। इंग्लैंड 11 जीत के साथ दूसरे नंबर पर है। टीम इंडिया ने टूर्नामेंट में 6 सीरीज में से 5 जीती हैं। एक में न्यूजीलैंड से हार मिली। भारतीय टीम ने टूर्नामेंट की अपनी पहली सीरीज में अगस्त 2019 में वेस्टइंडीज को 3-0 से हराया था।

कोरोना के चलते पॉइंट्स टेबल के फॉर्मेट में बदलाव
कोरोना के कारण क्रिकेट पर काफी असर पड़ा। इसके चलते ICC ने टेस्ट चैं‍पियनशिप के पॉइंट्स टेबल के फॉर्मेट में थोड़ा बदलाव किया था, ताकि कम मैच खेलने वाली टीम के साथ भेदभाव न हो। अनिल कुंबले की अगुवाई वाली ICC की क्रिकेट कमेटी ने टीमों की रैंकिंग पर्सेंटेज बेसिस पर कैलकुलेट करने का फैसला किया था। इस नए सिस्टम में टीमों द्वारा खेली गई सीरीज और उस सीरीज में उनके पॉइंट्स के आधार पर पर्सेंटेज निकाला जा रहा है।

मैच के हाइलाइट्स

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैंड टीम ने पहली पारी में 205 रन बनाए। बेन स्टोक्स ने 55 रन, डैन लॉरेंस ने 46, ओली पोप ने 29 और जॉनी बेयरस्टो ने 28 रन बनाए। स्टोक्स ने टेस्ट करियर की 24वीं फिफ्टी लगाई। अक्षर पटेल ने 4 विकेट लिए। उनके अलावा रविचंद्रन अश्विन ने 3 और मोहम्मद सिराज ने 2 विकेट झटके।
इंग्लैंड ने 30 रन पर 3 विकेट गंवा दिए थे। ओपनर सिबली और क्राउली के साथ कप्तान जो रूट भी पवेलियन लौट गए थे। इसके बाद जॉनी बेयरस्टो और बेन स्टोक्स ने 48 रन की पार्टनरशिप कर पारी को संभाला। बेयरस्टो के आउट होते ही स्टोक्स ने ओली पोप के साथ 5वें विकेट के लिए 43 रन जोड़े। यहां स्टोक्स पवेलियन लौट गए। तब पोप ने डैम लॉरेंस के साथ छठे विकेट के लिए 45 रन की पार्टनरशिप की। यहां से कोई बड़ी पार्टनरशिप नहीं हुई और इंग्लिश पारी सिमट गई।
जवाब में टीम इंडिया ने पहली पारी में 365 रन बनाते हुए 160 रन की बढ़त बनाई। ऋषभ पंत ने 101, वॉशिंगटन सुंदर ने नाबाद 96, रोहित शर्मा ने 49 और अक्षर पटेल ने 43 रन की पारी खेली। वहीं, इंग्लैंड के बेन स्टोक्स ने 4, जेम्स एंडरसन ने 3 और जैक लीच ने 2 विकेट लिए।

पंत और सुंदर के बीच 7वें विकेट के लिए 158 बॉल पर 113 रन की पार्टनरशिप हुई। इसके बाद सुंदर ने अक्षर पटेल के साथ 8वें विकेट के लिए 179 बॉल पर 106 रन की पार्टनरशिप की। इसके बदौलत भारतीय टीम ने इंग्लैंड पर पहली पारी में बड़ी बढ़त बनाई।
दूसरी पारी में इंग्लैंड की शुरुआत बेहद खराब रही। उसने 30 रन पर ही 4 विकेट गंवा दिए। जैक क्राउली (5), जॉनी बेयरस्टो (0), डॉम सिबली (3) और बेन स्टोक्स (2) जल्दी पवेलियन लौट गए। इसके बाद जो रूट और ओली पोप के साथ 35 रन की पार्टनरशिप कर पारी संभालने की कोशिश की, लेकिन नाकाम रहे। 65 रन पर इंग्लैंड ने 6 विकेट गंवा दिए। रूट 35 रन ही बना सके।
यहां से बेन फोक्स और डैन लॉरेंस ने 7वें विकेट के लिए 44 रन की पार्टनरशिप कर पारी को संभालते हुए इंग्लैंड का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया। 109 के स्कोर पर फोक्स (13 रन) भी पवेलियन लौट गए। यहां से टीम संभल नहीं सकी और 135 रन पर सिमट गई।

अश्विन और अक्षर ने 5-5 विकेट लिए। अक्षर ने डॉम सिबली, बेन स्टोक्स, ओली पोप, बेन फोक्स और डॉम बेस को आउट किया। अश्विन ने जैक क्राउली, जॉनी बेयरस्टो, कप्तान जो रूट, डैन लॉरेंस और जैक लीच को शिकार बनाया।

पंत ने 17 पारी के बाद शतक लगाया
पहली पारी में भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने 118 बॉल पर 101 रन की पारी खेली। यह उनके करियर का तीसरा टेस्ट शतक रहा। एंडरसन की बॉल पर पंत का कैच जो रूट ने लिया। विकेटकीपर बल्लेबाज पंत ने 17 पारी के बाद सेंचुरी लगाई। इससे पहले उन्होंने जनवरी 2019 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में 159 रन की पारी खेली थी। इन दो शतक के बीच वे 2 बार नर्वस 90 (97, 91) का शिकार हुए। एक बार वे 89 रन बनाकर नाबाद रहे थे। इसी सीरीज के पहले मैच की पहली पारी में वे 91 रन पर आउट हुए थे।

सुंदर ने टेस्ट में अपना बेस्ट स्कोर बनाया

पहली पारी में भारतीय ऑलराउंडर वॉशिंगटन सुंदर ने नाबाद 96 रन की पारी खेली। यह उनके टेस्ट का बेस्ट स्कोर भी रहा। इससे पहले उन्होंने इसी सीरीज के चेन्नई टेस्ट में नाबाद 85 रन बनाए थे।

सुंदर के नंबर-7 या इससे नीचे बल्लेबाजी करते हुए सबसे ज्यादा रन
वॉशिंगटन सुंदर इस साल नंबर-7 या इससे नीचे बल्लेबाजी करते हुए सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं। उन्होंने 1 जनवरी 2021 से नंबर 7 या इससे नीचे 4 टेस्ट की 6 पारी में अब तक 250+ रन बनाए हैं। दूसरे स्थान पर पाकिस्तान के फहीम अशरफ हैं। अशरफ ने 247 रन बनाए हैं। भारत के रविचंद्रन अश्विन 238 रन बनाकर तीसरे स्थान पर हैं।

सुंदर 90+ रन पर आकर शतक से चूके
सुंदर दूसरे छोर पर पार्टनर नहीं होने से 90+ रन बनाकर नाबाद रहे और अपना शतक पूरा नहीं कर सके। उनसे पहले जी विश्वनाथ ने वेस्टइंडीज के खिलाफ 1975 में नाबाद 97 रन बनाए थे। दिलीप वेंगसरकर श्रीलंका के खिलाफ 1985 में 98 रन और रविचंद्रन अश्विन इंग्लैंड के खिलाफ 2013 में 91 रन पर नाबाद रहे थे।