जांजगीर। ऐतिहासिक भीमा तालाब का पानी तालाब में फेंके जाने वाली गंदगी, रोज मछली मारने के कारण अब प्रदूषित हो रहा है। यहां का पानी हरा हो गया है। पानी से सड़ांध भी आने लगी है,जिसके कारण यहां रोज सुबह शाम मॉर्निंग वॉक करने वालों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। 21 माह पहले सीएम भूपेश बघेल, विस अध्यक्ष डॉ. चरण दास महंत, जिले के तत्कालीन प्रभारी मंत्री टीएस सिंहदेव ने इसी तालाब में बोटिंग की थी। यहां पर कैरम खेले थे। उन्होंने इस ऐतिहासिक तालाब के सौंदर्यीकरण का लोकार्पण किया था।
तब यह तालाब शानदार था, पानी भी बहुत ही साफ था। इसे देखने जिले के अन्य स्थानों से भी लोग आते थे। नगर के लोग अपने मेहमानों को इस तालाब को दिखाने ले जाते थे, लेकिन अब यहां एक बार फिर से गंदगी बढ़ रही है। यहां का पानी अब सड़ गया है, यहां घुमने वाले लोग इसी में कचरा डाल देते हैं। यह कचरा सड़ रहा है, जिससे पानी भी खराब हो रहा है, बदबू भी आने लगी है, लेकिन नगर पालिका द्वारा कोई ध्यान इसके रख रखाव के लिए नहीं दिया जा रहा है।