मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल के फीमेल वार्ड की घटना
कोरबा। प्राइवेट एजेंसी को सुरक्षा की जिम्मेदारी देने के बाद भी कोरबा में मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल मैं चोरी की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। पिछली रात्रि को यहां के फीमेल वार्ड में चोरी की घटना हुई। महिला मरीज को बातों में उलझने के साथ एक युवक ने उसका मोबाइल पार कर दिया। महिला का पति जब यहां भोजन लेकर लौटा तो उसे चोरी होने की जानकारी हुई। पुलिस को इस बारे में अवगत कराया गया है और कार्रवाई की मांग की गई है।
कोरबा जिले के बिरधा गांव के रहने वाले मनोज कुमार की पत्नी पिछले चार दिन से मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में भर्ती है। आगामी दिनों में उसका ऑपरेशन होना है। इसलिए परिवार के सदस्य लगातार यहां पर उपस्थिति दर्ज कर रहे हैं ताकि किसी प्रकार की समस्या न होने पाए। मनोज ने बताया कि रात्रि कब है भोजन करने के बाद यहां पहुंचा और कुछ देर रुकने के बाद मरीज व अन्य सदस्य के लिए भोजन लाने की व्यवस्था की। कुछ देर के बाद जब वह अस्पताल के फीमेल वार्ड में लौटा तो उसे मालूम चला कि पत्नी का मोबाइल यहां पर नहीं है। यहां वहां तलाश करने पर कोई सफलता नहीं मिली। इसके बाद उसने नर्सिंग कक्ष में इसकी सूचना दी।फौरी तौर पर क्रॉस सर्किट कैमरे के कंट्रोल यूनिट को दिखाया गया। तब उसमें पता चला कि एक युवक मौके पर पहुंचा था और उसने मरीज को बातों में उलझाया। इसके बाद ही वहां पर रखा हुआ मोबाइल अपने कब्जे में लेकर चलता बना। वह कौन था और अस्पताल के इस वार्ड में क्यों आया था, इस बारे में कुछ भी स्पष्ट नहीं हुआ है। मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल के फीमेल वार्ड में अनाधिकृत लोगों की पहुंच होने और इस प्रकार की घटनाओं को अंजाम देने पर अब सवाल खड़े हो रहे हैं। कारण यह बताया जा रहा है कि लगभग 3 करोड़ के वार्षिक खर्च पर अस्पताल प्रबंधन में सुरक्षा के काम का कॉन्ट्रैक्ट एक प्राइवेट एजेंसी को दिया हुआ है जो अपने कर्मियों को यहां वहां लगाए हुए हैं। इतना सब कुछ होने पर भी अस्पताल के विभिन्न वार्डों में आए दिन चोरी की घटनाएं होना यह बताती है कि सुरक्षा में कहीं ना कहीं झोलझाल है। याद रहे इससे पहले भी इस प्रकार के मामले अस्पताल के वार्ड से लेकर पार्किंग एरिया में हो चुके हैं और इसे लेकर तमाशा हुआ है। मौजूदा घटना को लेकर पीडि़त पक्ष ने पुलिस के पास शिकायत की है। इस मामले में आगे क्या कुछ नतीजे आ सकेंगे, इस पर नजर बनी हुई है।