जिले के 14 हजार शासकीय सेवकों को मिलेगा लाभ, आठ सौ से 2800 रूपए तक बढ़ेगा वेतन
सभी शासकीय अधिकारी-कर्मचारियों को हर महीने अब एक करोड़ रूपए का फायदा होगा

कोरबा 05 सितंबर 2021/ मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की राज्य के शासकीय अधिकारी-कर्मचारियों के लिए पांच प्रतिशत महंगाई भत्ता बढ़ाने की घोषणा से कोरबा जिले के लगभग 14 हजार शासकीय सेवकों को फायदा मिलेगा। अब शासकीय सेवकों को 17 प्रतिशत महंगाई भत्ता मिलेगा जिससे उनका वेतन हर महीने 800 से दो हजार 800 रूपए तक बढ़ जाएगा। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कल ही राज्य के सभी शासकीय सेवकों, पेंशनरों को 12 प्रतिशत की दर से प्रदान किए जा रहे महंगाई भत्ता एवं राहत को पांच प्रतिशत से बढ़ाकर 17 प्रतिशत करने की घोषणा की है। बढ़ी हुई महंगाई भत्ता का लाभ एक जुलाई 2021 से मिलेगा। जहां राज्य में चार लाख अधिकारी-कर्मचारी व सवा पेंशनरों को इसका लाभ मिलेगा तो वहीं जिले में 14 हजार अधिकारी कर्मचारी इससे लाभान्वित होंगे।

बीते डेढ़ वर्षों में राजस्व संग्रहण में अपेक्षित वृद्धि नहीं होने तथा इस कोविड संक्रमण के दौर में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों, किसानों, मजूदरों एवं अन्य प्रभावित वर्गों को आर्थिक सहायता, कोविड-19 के उपचार हेतु स्वास्थ्य अधोसंरचना के उन्नयन एवं आवश्यक दवा, सामग्री आपूर्ति सुनिश्चित करने हेतु राज्य सरकार द्वारा सीमित संसाधनों से प्राथमिकता पर व्यवस्था सुनिश्चित की गई। इन सबके कारण राज्य के संसाधनों पर अत्याधिक दबाव रहा है।

हर महीने एक करोड़ रूपए अतिरिक्त मिलेंगे – कोषालय अधिकारी श्री जी. एस. जागृति ने बताया कि जिले में कुल 14 हजार शासकीय अधिकारी-कर्मचारी कार्यरत हैं। 180 आहरण संवितरण अधिकारी कार्यालयों में कार्यरत इन अधिकारी-कर्मचारियों के वेतन के तौर पर प्रतिमाह 20 करोड़ रूपए का भुगतान होता है। पांच प्रतिशत डीए में बढ़ोत्तरी से इन अधिकारी-कर्मचारियों को अब कुल मिलाकर हर महीने एक करोड़ रूपए अतिरिक्त मिलेंगे।

इनका इतना बढ़ेगा वेतन – राज्य शासन द्वारा डीए में बढ़ोत्तरी से शासकीय सेवकों को वेतन में न्यूनतम 800 रूपए से लेकर 2800 रूपए तक की बढ़ोत्तरी होगी। वर्गवार डिप्टी कलेक्टर के वेतन में 2800 रूपए, अपर डिवीजन क्लर्क 1500 रूपए, लोवर डिवीजन क्लर्क एक हजार रूपए एवं चतुर्थ श्रेणी के वेतन में 800 रूपए की बढ़ोत्तरी होगी।