गोंडा , २५ जुलाई [एजेंसी]।
उत्तर प्रदेश के गोंडा में किडनैप हुए किराना व्यवसायी के आठ वर्षीय बच्चे को शनिवार तडक़े पुलिस और एसटीएफ टीम ने मुठभेड़ के बाद सकुशल बरामद किया। इस दौरान दो अपहर्ताओं के पैर में गोली लगी। मुठभेड़ में महिला समेत कुल पांच बदमाश गिरफ्तार हुए हैं। बीते दिन किराना व्यवसायी के बेटे का अपहरण कर बदमाशों ने चार करोड़ की फिरौती मांगी थी। जिसके बाद एसटीएफ और पुलिस ने संयुक्त छानबीन के बाद बदमाशों को दबोच लिया। घटना में प्रयुक्त अल्टो कार, पिस्टल भी बरामद हुआ है। वहीं, एडीजी प्रशांत कुमार ने पुलिस टीम को एक लाख रुपये इनाम दिए जाने की घोषणा की है। जिले के करनैलगंज में हुई मुठभेड़ में सूरज पांडे पुत्र राजेंद्र पांडे, पत्नी छवि पांडेय व छोटा भाई रवि पांडेय निवासी शाहपुर थाना परसपुर जनपद गोंडा उमेश यादव पुत्र रमाशंकर यादव निवासी सकरोड़ा पूर्वी थाना करनैलगंज जनपद गोंडा, दीपू कश्यप पुत्र राम नरेश कश्यप निवासी सोनवारा थाना करनैलगंज जनपद गोंडा को गिरफ्तार किया गया है। मामला कर्नलगंज कोतवाली क्षेत्र का है। कस्बे के गाड़ी बाजार मुहल्ला निवासी किराना व्यवसायी रामजी गुप्त ने बताया कि शुक्रवार की दोपहर दो व्यक्ति उनके घर पर आए। उन लोगों ने खुद को स्वास्थ्य विभाग से होने की जानकारी देते हुए मास्क व सैनिटाइजर बांटने की बात कही। भाई हरी गुप्त से मोबाइल नंबर लेते हुए कहा कि मास्क व सैनिटाइजर देने के लिए किसी को गाड़ी तक भेज दीजिए। इस पर परिवारजन ने हरि के आठ वर्षीय पुत्र आरुष उर्फ नमो को भेज दिया। बताया गया कि कार सवार बदमाश बच्चे को वहीं से अगवा कर भाग निकले। कुछ देर बाद बच्चा वापस घर नहीं लौटा तो परिवारजनों ने खोजबीन शुरू की। तभी हरी गुप्त के मोबाइल पर फोन करके बदमाशों ने फिरौती की मांग की। साथ ही पुलिस को जानकारी न देने की धमकी भी दी।
इसकी जानकारी पुलिस को दी गई है। कर्नलगंज कोतवाल राजनाथ सिंह मांगी गई फिरौती की रकम के बारे में कुछ भी बताने से गुरेज कर रहे हैं। व्यवसायी पुत्र आरुष उर्फ नमो के अपहरण की पूरी वारदात सीसी कैमरे में कैद हो गई है। दोपहर एक बजकर 36 मिनट के फुटेज पर हरे रंग की शर्ट पहने युवक बच्चे को कुछ दूरी पर खड़ी कार के पास ले जाते हुए दिखाई दिया। वह किनारे खड़ी अल्टो कार में बच्चे को बैठा लेता है। कुछ सेकेंड तक वह बाहर देखने के बाद वहां से कच्चे रास्ते से होकर निकल गया।