आगंतुकों को पहचान पत्र लेकर आना होगा
जांजगीर-चांपा। नगर पंचायत शिवरीनारायण के कार्यालय भवन में कलेक्टर यशवंत कुमार ने जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों की बैठक लेकर शिवरीनारायण मेले के सुरक्षित आयोजन के संबंध में चर्चा की। कलेक्टर ने कहा कि मेला आयोजन के साथ कोविड-19, सहित स्वास्थ्य सुरक्षा के निर्देशों का कड़ाई से पालन करवाया जाएगा। मेला स्थल और मंदिर परिसर में कोविड से संबंधित स्वास्थ्य विभाग के निर्देशों के अनुसार व्यवस्था सुनिश्चित होने पर मेला का आयोजन होगा। मेला आयोजन समिति नगर पंचायत होगी।
कलेक्टर ने कहा कि मेला स्थल के प्रवेश द्वार पर पहचान पत्र के आधार पर आगंतुकों की पंजी संधारित की जाएगी। सभी आगंतुकों को पहचान पत्र लेकर आना अनिवार्य होगा। अन्य राज्यों से आए श्रद्धालुओं को कोविड-19 निगेटिव का रिपोर्ट साथ में लाना होगा। यह रिपोर्ट 3 दिन से अधिक पुरानी नहीं होनी चाहिए। मेला स्थल पर भी कोविड जांच की व्यवस्था रहेगी। संक्रमित पाए जाने पर स्वास्थ्य विभाग के प्रोटोकाल के अनुसार कार्रवाई होगी।
कलेक्टर ने कहा कि मांघ पूर्णिमा की तिथि के बाद अन्य दिनों के लिए मेला का समय सुबह 10 बजे से रात्रि 10 बजे तक रहेगा। भीड़ वाले आयोजन जैसे मौत का कुआं, ओपन थिएटर आदि में निर्धारित क्षमता के अनुसार ही प्रवेश की अनुमति होगी। ओपन थिएटर संचालन के लिए रात्रि 11 बजे तक की अनुमति रहेगी। मेला स्थल की निगरानी के लिए सीसी कैमरा की व्यवस्था आयोजन समिति करेगी। प्रवेश द्वार, स्टाल, स्वास्थ्य परिक्षण स्थलों पर नगर पंचायत के कर्मचारी प्रतिनिधि के रूप में संबंधित विभागों का सहयोग करेंगें। कोविड प्रोटोकाल का उल्लंघन पाए जाने पर दुकान बंद करवाने अथवा मेला स्थगित करने की भी कार्रवाई की जा सकेगी। जिसकी जि?मेदारी आयोजन समिति की होगी।
कलेक्टर ने कहा कि दुकानदार एवं कर्मचारियों द्वारा कोविड निगेटिव रिपोर्ट प्रस्तुत करने पर ही स्टाल लगाने की अनुमति दी जाएगी। दुकानदारों को इनवर्टर की व्यवस्था स्वयं करना होगा। चार चार दुकानों का कलस्टर बनाकर बैरिकेडिंग की जाएगी। सभी दुकानदार सैनिटाइजर की व्यवस्था स्वयं करेंगे। मेला स्थल के प्रवेश मार्ग पर सैनेटाइजर, मास्क और थर्मल स्केनिंग की पर्याप्त मात्रा में व्यवस्था की जाएगी। इसी प्रकार नदी घाट की सुरक्षा को ध्यान रखते हुए चिन्हांकित जगहों पर बैरिकेडिंग, गोताखोर, फायर ब्रिगेड आदि की व्यवस्था की जाएगी। मेला के कारण कोविड-19, संक्रमित पाए जाने पर इलाज का संपूर्ण कर खर्च आयोजन समिति द्वारा वहन किया जाएगा। मेला के कारण क्षति की स्थिति में मुआवजे का भुगतान आयोजन समिति करेगी। कलेक्टर ने सुरक्षा व्यवस्था, कानून व्यवस्था, पेयजल, साफ-सफाई, प्रकाश व्यवस्था, बेरिकेडिंग, वाहन पार्किंग, बाई पास मार्ग बनाने आदि के संबंध में संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया। कलेक्टर ने सभी अधिकारियों के साथ मेला स्थल व घाट का निरीक्षण भी किया। उन्होंने कहा कि मेला स्थल का विस्तार किया जाएगा। वृहद स्थल पर मेला आयोजन करने एवं भीड़ एक जगह एकत्रित ना हो इसका भी ध्यान रखना होगा।
बैठक में जिला वनमंडल अधिकारी श्रीमती प्रेमलता यादव, अपर कलेक्टर श्रीमती लीना कोसम, जिला सेनानी मानवटकर, एएसपी संजय महादेवा, शिवरीनारायण नगर पंचायत अध्यक्ष श्रीमती अंजनी तिवारी, उपाध्यक्ष राजेंद्र यादव, जांजगीर एसडीएम श्रीमती मेनका प्रधान, पामगढ़ एसडीएम करुण डहरिया, नगर पंचायत के पार्षद, जनप्रतिनिधि एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।