कोरबा। जंगली जानवरों की उपस्थिति और उनके हिंसक व्यवहार ने ग्रामीण क्षेत्र के लोगों की चुनौती बरकरार रखी है। विमलता गांव में तेंदुआ ने बैल का शिकार करने के साथ लोगों को दहशत में डाल दिया है। वन विभाग ने मामले की जानकारी मिलने के बाद क्षेत्र का दौरा किया और लोगों को सावधानी बरतने की सलाह दी।
गुरुवार की सुबह 8 बजे के आसपास यह घटना वनमंडल कोरबा के अंतर्गत आने वाले लेमरू परिक्षेत्र में हुई। यहां के कक्ष क्रमांक ओए-1196 में तेंदुआ ने एक बैल का शिकार करने के साथ एक बार फिर यह जताया कि लेमरू रेंज में खतरनाक वन्य प्राणी मौजूद हैं। घटना स्थल से कुछ दूर आगे शिकार बनाया गया बैल मृत स्थिति में पाया गया। वह बुरी तरह क्षत-विक्षत किया जा चुका था और उसके कई हिस्से नदारद थे। संबंधित मवेशी के मालिक तिलक राम पिता मंगलराम को कुछ घंटे बाद इस बारे में जानकारी हुई। उसने उस हिस्से में बैल को नहीं पाया, जहां उसे बांधा गया था। आसपास के ग्रामीणों को भनक लगी थी कि जंगली जानवर को कुछ दूरी पर देखा गया है। इससे अंदाज लगाया गया कि हो न हो उसके द्वारा बैल को अपना शिकार बनाया गया हो। खोजबीन करने के दौरान बैल मृत स्थिति में मिला। वन विभाग के स्थानीय अमले को इसकी जानकारी दी गई। उक्तानुसार मौके पर पाए गए चिन्हों के आधार पर पुष्टि हुई कि बैल का शिकार किसी और ने नहीं बल्कि तेंदुआ ने ही किया है। इस मामले में आवश्यक प्रक्रियाओं को पूरा करने के साथ मृत मवेशी को दफनाया गया। रेंजर ने बताया कि इस बारे में उच्चाधिकारियों को अवगत कराया गया है। वन्य प्राणियों के हमले में होने वाले नुकसान को लेकर प्रकरण तैयार करने के साथ मवेशी मालिक को आवश्यक क्षतिपूर्ति दी जाएगी।