चांपा। मुख्यमंत्री ने शिक्षा का स्तर सुधारने के लिए स्पष्ट निर्देश दिया है साथ ही स्कूल में शिक्षकों की समय पर और स्कूल बंद होने तक उपस्थिति अनिवार्य किया है। इसके बाद भी शिक्षक विभिन्न प्रकार के बहाने बनाकर स्कूल से बचना चाहते हैं। शनिवार को बम्हनीडीह बीईओ ने निरीक्षण किया तो स्कूलों में शिक्षक अनुपस्थित मिले। अनुपस्थित शिक्षकों के वेतन काटने की अनुशंसा की गई है। बम्हनीडीह बीईओ एमडी दीवान शनिवार को विभिन्न स्कूलों के निरीक्षण पर निकले थे। प्राथमिक शाला कोटाडबरी में पदस्थ उत्तम यादव के वेतन रोकने की कार्रवाई कर उन्हें नोटिस जारी किया है। उन्हें बीएलओ का भी दायित्व दिया गया है। इस वजह से वे हर शनिवार को विशेष कैंप का बहाना बनाकर महीनों से स्कूल से नदारद रहते थे। इस शनिवार को भी वे स्कूल से अनुपस्थित रहे। यह जानना जरूरी है कि बीएलओ को सरकार अलग से मानदेय देती है। इसलिए डीईओ ने सभी बीएलओ को निर्देशित किया था कि वे बीएलओ का काम स्कूल अवधि में न करें इसके बाद भी अधिकांश बीएलओ की मनमानी जारी है। बीईओ दीवान ने बताया कि बीएलओ ड्यूटी का बहाना बनाकर कुछ शिक्षक स्कूल से नदारद रहते हैं या कुछ स्कूल आते हैं और हस्ताक्षर कर तुरंत स्कूल से निकल जाते हैं।