कुसमुंडा। शराबखोरी करने के बाद होने वाले दुष्परिणाम आए दिन सामने आते हैं। बिरदा गांव में इसी फेर में अनुसूचित जनजाति वर्ग के एक व्यक्ति के घर में घुसकर मारपीट और तोडफ़ोड़ करने के सिलसिले में दो लोगों पर अपराध दर्ज किया गया है। थाना प्रभारी लीलाधर राठौर ने बताया कि जगसिंह बियार इस मामले में प्रार्थी है। उसके बताए अनुसार इसी गांव में रहने वाले अशोक बियार और शत्रुघ्न बियार के द्वारा उसके साथ बदतमीजी करते हुए सामानों को नुकसान पहुंचाया गया। संबंधित लोग नशे में थे। स्थिति असामान्य होने पर वे जगसिंह के घर में अनाधिकृत रूप से घुस आए और उससे उलझे। आरोपियों के द्वारा कहा जा रहा था कि जगसिंह अपने आपको बड़ा आदमी बताता है इसलिए उसे सबक सिखाया जाएगा। बेसिर-पैर की बात करने पर आपत्ति जताई गई तो मारपीट शुरू कर दी गई। पीडि़त की चोटों का मुलाहिजा कराए जाने और इस संबंध में आई एमएलसी रिपोर्ट के आधार पर आईपीसी की धाराओं के अंतर्गत प्रकरण पंजीबद्ध किया गया है।
अवैध शराब के खिलाफ कार्रवाई जारी
पुलिस ने बताया कि सभी तरह की अवैध गतिविधियों के उन्मूलन के लिए जरूरी कार्रवाई की जा रही है। अधिकारियों ने जो निर्देश दिए हैं, उस कड़ी में काम जारी है। थाना क्षेत्र के अंतर्गत कुछ इलाके ऐसे हैं जहां पर अवैध शराब बनाने और खपाने की खबरें पहले से मिलती रही है। इस पर ध्यान देने के साथ प्रावधानों के अंतर्गत कार्रवाई की जा रही है।

Previous articleलापता युवती पहुंची गोवा पुलिस का टेंशन समाप्त
Next articleजीवन की रफ्तार हो बेहतर, इसके लिए ह्दय का स्वस्थ होना जरूरी