जांजगीर-चांपा। आदतन शराबी पिता की प्रताडऩा से तंग आकर नाबालिग बेटे ने पिता के सीने पर पत्थर से प्रहार कर उसकी हत्या कर दी। सूचना मिलने पर पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और अपचारी बालक को बाल सुधार गृह भेजा गया। घटना मुलमुला थाना की है।
पुलिस के अनुसार मुलमुला थाना अंतर्गत एक गांव निवासी उत्तरा केंवट आदतन शराबी था। उसकी पत्नी की लगभग साल भर पूर्व मौत हो गई है। पत्नी की मौत के बाद उत्तरा केंवट का छोटा बेटा अपने मामा के यहां रहने लगा। वहीं वह अपने 15 वर्षीय नाबालिग बड़े बेटे के साथ गांव में ही रहता था। उत्तरा आए दिन शराब के नशे में घर पहुंचकर अपने नाबालिग बेटे के साथ गाली गलौज कर मारपीट करता था। बीती रात लगभग साढ़े 7 बजे वह फिर से शराब के नशे में घर पहुंचा और बेटे के साथ विवाद हो गया। कुछ देर बाद वह नशे की हालत में सो गया। शराबी पिता की प्रताडऩा से तंग आकर नाबालिग घर के बाहर आया और बाहर पड़े पत्थर उठाकर कमरे में पहुंचा। खाट पर सो रहे शराबी पिता के सीने पर उसने पत्थर से प्रहार कर दिया, जिससे उत्तरा केंवट की मौके पर ही मौत हो गई। रात लगभग 10 बजे मृतक का बड़ा भाई संतोष कुमार उसके घर पहुंचा तो देखा कि उत्तरा के घर की नाली से लाल रंग का पानी बह रहा था। मृतक के बड़ा भाई ने घर के अंदर जाकर देखा तो उत्तरा खाट के नीचे मृत अवस्था में पड़ा हुआ था। साथ ही उसके शरीर पर खून के धब्बे दिखाई दिए। उसने इसकी जानकारी आसपास के लोगों व पुलिस को दी। सूचना मिलने पर पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और प्रार्थी की रिपोर्ट पर अज्ञात आरोपित के खिलाफ भादवि की धारा 302 के तहत जुर्म दर्ज कर विवेचना में लिया। मामले को गंभीरता से लेते हुए एसडीओपी श्रीमती दिनेश्वरीनंद, एफएसएल वैज्ञानिक विश्वास व प्रवीण सोनी, फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट श्रीमती विद्या जौहर व डाग स्क्वायड की टीम के साथ मौके पर पहुंची और विवेचना में लिया। इस दौरान उन्होंने नाबालिग से पूछताछ की। पुलिस के अनुसार पूछताछ पर मृतक द्वारा शराब के नशे में आये दिन मारपीट किए जाने से प्रताडि़त होकर अपने पिता की हत्या करने की बात कबूल की। पुलिस ने नाबालिग की निशानदेही पर वारदात में प्रयुक्त पत्थर, फर्श में लगे खून को पोछने के लिए प्रयुक्त कपड़े सहित अन्य सामानों को जब्त कर उसे किशोर न्याय बोर्ड भेजा गया। जहां से उसे बाल सुधार गृह भेज दिया गया।
नाबालिग ही करता था पिता की देखरेख
मृतक उत्तरा केंवट आदतन शराबी था जिसके चलते वह बेरोजगार था। उसकी पत्नी का लगभग साल भर पूर्व मौत हो चुकी है। गांव में वह अपने 15 वर्षीय बेटे के साथ रहता था, मगर आए दिन उसके शराब पीने की लत से स्वजन सहित मोहल्लेवासी परेशान थे। घर पर उसका बेटा ही घर की देखरेख करता था। साथ ही उसे खाना बनाकर खिलाता था, मगर शराब के नशे में उत्तरा आए दिन उसके साथ गाली गलौज व मारपीट करता था। लगातार उसकी प्रताडऩा से तंग आकर उसे अपने शराबी पिता की हत्या कर दी।
दो दिन में शराब के चलते गई दूसरी जान
शराब के चलते बीती रात फिर एक परिवार उजड़ गया। शिवरीनारायण थाना क्षेत्र के राहौद निवासी लखन यादव आदतन शराबी है। शराब के चलते आए दिन उसका पत्नी जुमना बाई के बीच आए दिन विवाद होता था। जिसके चलते लखन के दोनों बच्चे अपने नाना-नानी के साथ रहते थे। शुक्रवार की रात लगभग 2 बजे लखन ने अपनी पत्नी पर कुल्हाड़ी से वार कर उसकी हत्या कर दी। वहीं फिर से लगातार शराब पीने की लत व प्रताडऩा से तंग आकर नााबलिग ने अपने शराबी पिता की हत्या कर दी।