चंडीगढ़, २६ सितम्बर [एजेंसी]।
चंडीगढ़ हवाई अड्डे का नाम ‘शहीद-ए-आजमÓ भगत सिंह के नाम पर रखने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की घोषणा का स्वागत करते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने रविवार को कहा कि पंजाब के लोगों की लंबे समय से लंबित मांग पूरी हो गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रेडियो पर प्रसारित अपने ‘मन की बातÓ कार्यक्रम में कहा कि महान स्वतंत्रता सेनानी शहीद भगत सिंह को श्रद्धांजलि के तौर पर अब चंडीगढ़ हवाई अड्डे का नाम उनके नाम पर रखा जायेगा। मान ने ट्वीट कर कहा, ”अंतत: हमारी मांग पूरी हुयी। शहीद भगत सिंह के नाम पर चंडीगढ़ हवाई अड्डे का नाम रखने के निर्णय का पूरे पंजाब की तरफ से हम स्वागत करते हैं। प्रधानमंत्री को धन्यवाद देते हुये उन्होंने कहा, ”पंजाब के लोगों की लंबे समय से लंबित मांग अब पूरी हुयी है। हरियाणा के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने भी इस घोषणा का स्वागत किया है। चौटाला ने कहा कि पंजाब और हरियाणा की सरकारें इससे पहले चंडीगढ़ अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का नाम भगत सिंह के नाम पर रखने के लिये सहमत हुयी थीं। पिछले महीने इस मुद्दे पर भगवंत मान और दुष्यंत चौटाला की हुयी बैठक के बाद यह फैसला आया है। मान ने कहा, ”मैं खुश हूं कि हमारे प्रयास रंग लाए हैं और प्रधानमंत्री ने मन की बात कार्यक्रम में इस आशय की घोषणा की है। प्रधानमंत्री मोदी को धन्यवाद देते हुये चौटाला ने कहा, ”यह भी प्रसन्नता का विषय है कि यह घोषणा चौधरी देवीलाल की जयंती (25 सितंबर) के मौके पर हुयी है। गौरतलब है कि चंडीगढ़ अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का नाम इससे पहले विवादों में पड़ गया था।
पंजाब सरकार ने 2017 में हवाई अड्डे का नाम ”शहीद-ए-आजम सरदार भगत सिंह अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा, मोहाली रखने की मांग की थी। हरियाणा सरकार ने यह कहते हुये आपत्ति जतायी कि उसे भगत सिंह के नाम पर कोई आपत्ति नहीं है।
लेकिन हवाई अड्डे के नाम में ‘मोहालीÓ जोड़े जाने पर चिंता जाहिर की थी। हवाई अड्डे का रनवे चंडीगढ़ में स्थित है, जबकि अंतरराष्ट्रीय टर्मिनल रनवे के दक्षिण की तरफ स्थित है, जो मोहाली जिले के झिउरहेरी गांव में पड़ता है। मोहाली पंजाब का हिस्सा है।
—————–