कोरबा। सरकारी स्कूल का प्रबंधनऔर शैक्षिक गतिविधि बेहतर से बेहतरीन हो,तभी सभी शिक्षकों की तपस्या सार्थक होगी। जिला शिक्षा अधिकारी जिला कोरबा का सार्थक सोच है, पालकों के अपने बच्चों के मन की परिकल्पना का सर्वांगीण विकास हमारे स्कूलों में हो सके। प्रेरणा से परिवर्तन कार्यशाला जो संजीवनी का काम कर रहा है। एनटीपीसी जमनीपाली के उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी डी.लाल की उपस्थिति में तथा प्राचार्य अभिमन्यु साहू, बीआरसीसी प्रहलाद साहू सहयोग से आयोजित हुए।
जिला शिक्षा अधिकारी सतीश पांडे के द्वारा असंभव को सहज ही संभव करने की प्रेरणा को सरल बनाते वक्तब्य शिक्षकों को प्रदान किए गए। बीईओ डी.लाल ने कहा कि शिक्षक नवाचारी होते हैं अपनी कला को उकेरने की दक्षता में माहिर है। योजना सफलता का सर्वनाम है,इस पर हमें शत-प्रतिशत सफलतापूर्वक काम करना है।
मार्गदर्शक सदस्य कामता प्रसाद जायसवाल ने प्रेरणा से परिवर्तन को लेकर व्यक्तित्व विकास पर प्रकाश डाला,आने वाली शिक्षा जगत के लिए समस्या को समाधान के रूप में कैसे सार्थक करें बताया। इसी तरह खुशबू सोनी व्याख्याता, तान्या घोष व्याख्याता आदि ने भी प्रेरणा से परिवर्तन के विभिन्न बिंदुओं को वैश्विक सफलता के उद्देश्य से पेश किया, मंच का संचालन जनशिक्षक आनंद सिंह कवर के द्वारा किया गया। कार्यशाला में प्रशिक्षण में भाग लेने वाले समस्त शिक्षकों व शिक्षा के दिए में तेल की कमी दूर कर, हमेशा प्रदीप्त आभा बिखेरने वाले समस्त शैक्षिक समन्वयकों की भागीदारी रही।