डभरा। क्षेत्र की जर्जर सडक़ के चलते राहगीरों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। चंद्रपुर से डभरा व डभरा से भदरी चौक फगुरम खरसिया सडक़ मार्ग की हालत इतनी जर्जर है कि सडक़ पर पैदल चलना मुश्किल है जबकि सरकार गांवों एवं शहरों में पक्की सडक़ों के नाम पर हर साल लाखों रूपए खर्च करती है।
डभरा से खरसिया की दूरी 24 किलोमीटर है मगर सफर तय करने में 3 घंटे लग जाते हैं। यही हाल डभरा से चन्द्रपुर के बीच की सडक़ की है जहाँ सडक़ों पर बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं। सडक़ से डामर उखड़ गया है। इस गर्मी में भी सडक़ नहीं बनी। सडक़ मार्ग के ग्राम गोबरा, सुखदा देवरघटा, शेरो, भदरी चौक के पास बड़े-बड़े गड्ढे हो चुके हैं वही बेमौसम बारिश से गड्ढे डबरी व पोखरी जैसा दिख रहा है। सडक़ों में लबालब पानी भरा हुआ है। सडक़ ही नहीं दिख रहा है। दो पहिया मोटर साइकिल वाहन से सडक़ पर चलना मुश्किल हो गया है। राहगीर साइकिल वाले रोज गिर रहे हैं। भारी वाहनों की आवाजाही हो रही है। सडक़ें खराब होने से हर रोज दुर्घटना हो रही। इसके बाद भी लोक निर्माण विभाग द्वारा कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। सडक़ों की हालत बद से बदतर हो गई है। नगर पंचायत डभरा के मुख्य सडक़ों पर गड्ढे बड़े-बड़े हो चुके हैं। नगरवासियों को पैदल चलना भी मुश्किल हो गया है। डभरा के सडक़ किनारे दुकान संचालको को भारी परेशानी हो रही है वहीं मेनरोड गोबरा से फरसवानी छोटे सीपत मेनरोड तक सडक़ की हालत जर्जर हैं। बेमौसम बारिश से सडक़ मार्ग कीचड़ से सरोबार हो रहा है। यह सडक़ मालखरौदा व डभरा की मुख्य सडक़ है इसके बाद भी बरसों से सडक़ की हालत जर्जर है। सडक़ के जगह जगह बड़े-बड़े गड्ढे हो चुके हैं जिस कारण गड्ढे में पानी भर जाता है। ग्रामीणों द्वारा चक्काजाम एवं कई बार आंदोलन किया जा चुका है। इसके बाद भी पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों की नींद नहीं खुली है वे सडक़ मरम्मत एवं डामरीकरण करने ध्यान नहीं दे रहे है। सडक़ मार्ग खराब होने से गंभीर मरीजों व गर्भवती महिलाओं को अस्पताल पहुंचाने में घंटों लग जाता हैं और परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। दोपहिया वाहनों में परिवार वाले छोटे-छोटे बधाों को लेकर आने से कभी भी दुर्घटना होने की संभावना बनी रहती है। इस सडक़ पर कई हादसे हो चुके हैं इसके बाद भी शासन प्रशासन एवं लोक निर्माण विभाग उदासीन है। ग्रामीण लाला राम लहरे जगदीश यादव व क्षेत्र के ग्रामीणों द्वारा कई बार सांसद, विधायक व मंत्रियों को कई बार अवगत कराया जा चुका है। इसके बाद भी हालत जस की तस है। बरसों से सडक़ों की हालत खराब है दिनोंदिन सडक़ों की हालत खराब होती जा रही है जन प्रतिनिधि ध्यान नहीं दे रहे हैं आम नागरिक परेशान हैं वही जबकि प्रशासन के उधा अधिकारियों व विधायक सांसद सभी इसी सडक़ से आना जाना करते हैं। इस संबंध में हाईकोर्ट अधिवक्ता व छ ग कांग्रेस कमेटी विधि विभाग के प्रदेश महामंत्री कमल किशोर पटेल ने कहा कि डभरा से चन्द्रपुर एवं डभरा से खरसिया तक सडक़ मार्ग की हालत जर्जर है। सडक़ो की मरम्मत व डामरीकरण जल्दी कराने का प्रयास किया जाएगा। ताकि क्षेत्रवासियों को इसका लाभ मिल सके।