जांजगीर-चांपा। दिन रात एक कर जिला प्रशासन ने ग्राम पिहरीद में बोर मेंगिरेराहुल साहू को सकुशल बचा लिया । मगर इसके लिए खोदा गया गड्ढा अब तक खुला है। उसे पाटने के लिए ग्रामीणों ने प्रशासन से मांग की है। वहीं कुछ किसानों के खेत मेंमलबा भी पड़ा है। उनकी परेशाानी बारिश के बाद और बढ़ गई हैऔर उन्होंने भी खेत से मलबा हटाने की मांग की है। ग्राम पिहरीद में10 जून को राहुल साहू 60 फीट गहरा बोर मेंगिर गया था। पांच दिन के रेस्क्यू आपरेशन केबाद उसे सुरक्ष्ति निकाला गया। इस कार्य में एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, सेना, जिला प्रशासन और पुलिस की भूमिका रही। 15 जून की रात राहुल को निकाला गया और उसे अपोलो अस्पताल बिलासपुर भेजा गया जहां उसका उपचार चल रहा है। दिनोंदिन उसकी सेहत मेंसुधार हो रहा है। मगर राहुल को निकालनेबोर केपास जो गड्ढा खोदा गया था उसे अब तक नहीं पाटा गया है। जबकि बारिश होनेलगी है। ऐसे मेंकोई व्यक्ति या मवेशी गड्ढे में गिर सकते हैं। मगर आपरेशन राहुल केसप्ताहभर बाद भी गड्ढा जस का तस है। टनल को जरूर पत्थर रखकर बंद कर दिया गया है मगर 60 फीट गहरा और लगभग इतने ही फीट चौड़ा गड्ढा कोअब तक नहीं पाटा जा सका है। इस गड्ढे को देखने अब भी आसपास के गांव के लोग पहुंच रहे हैं। ऐसे मेंकभी भी दुर्घटना हो सकती है। ज्यादा बारिश होगी तो गड्ढे में पानी भर जाएगा। ऐसे मेंपाटनेमें भी परेशानी होगी। वहीं मवेशी व लोगों केगिरने का खतरा बना हुआ है।

Previous articleअनुविभागीय स्तर पर उर्वरक,बीज, कीटनाशक निरीक्षकों का दल गठन
Next articleप्राथमिक विद्यालय बोरसी में मनाया प्रवेशोत्सव