जांजगीर-चांपा । शिक्षा से समाज में विकास एवं परिवर्तन संभव है। शिक्षा ही मनुष्य को एक दूसरे के साथ रहकर सुख-दुख में सहभागिता करने के लिए तैयार करती है। उक्त कथन सूर्यांश कैरियर मार्गदर्शन एवं ग्रामीण भ्रमण दल को झंडा दिखाकर रवाना करते समय अकलतरा विधायक सौरभ सिंह ने कही।
उन्होंने भ्रमण दल में उपस्थित समस्त सदस्यों का आभार प्रकट करते हुए कहा कि वे अपने सामान्य कार्यों से समय निकालकर समाज में शिक्षा का अलख जगाने में अमूल्य योगदान दे रहे हैं जिसके लिए साधुवाद के पात्र हैं। सूर्यांश शिक्षा उत्थान समिति द्वारा सूर्याश वृहद कैरियर मार्गदर्शन, ग्रामीण प्रतिभा खोज एवं शिक्षा से सामाजिक एकता एहसास महाअभियान के द्वितीय चरण का शुभारंभ 16 अक्टूबर को विधायक सौरभ सिंह के हरी झंडी दिखाने के साथ हुआ। अकलतरा से प्रारंभ प्रथम मार्ग साजापाली से कन्हाई बंद के मुख्य वक्ता तीज राम लाठिया मार्ग प्रभारी शुक्ला प्रसाद सूर्यवंशी थे। इस मार्ग में भ्रमण दल ने साजापाली, सोनाईडीह, मरकाडीह, बोड़सरा एवं कन्हाईबंद में ग्रामीणों एवं विद्यार्थियों के बीच जाकर शिक्षा के प्रति जागरूक रहने के लिए प्रेरित एवं मार्गदर्शित किया। द्वितीय मार्ग अमरताल से बनारी के मुख्य वक्ता टीपी भावे, मार्ग प्रभारी उमाकांत टैगोर एवं लकेश्वर भुवने थे। इस मार्ग में भ्रमण दल ने अमरताल, तिलई, तागा, घनवा, मुड़पार, परसदा, हाथीटिकरा, पुटपुरा एवं बनारी में ग्रामीणों के मध्य उपस्थित होकर शिक्षा के प्रति जागरूक एवं कैरियर मार्गदर्शन संबंधी जानकारी प्रदान किया एवं विद्यार्थियों के द्वारा पूछे गए प्रश्नों का समाधान किया। तृतीय मार्ग मधुवा से सिवनी के मुख्य वक्ता चंद्रप्रकाश सूर्या मार्ग प्रभारी कन्हैया सूर्यवंशी के साथ योगेश कुमार सूर्यवंशी एवं अशोक चौरसिया सम्मिलित थे। भ्रमण दल ने मधुवा, ढोरला, सुल्ताननार, बूची हरदी, जावलपुर, पाली एवं सिवनी पहुंचकर ग्रामीणों को शिक्षा के प्रति सजग एवं जागरूक किया। चतुर्थ मार्ग अकलतरा से डीह के मुख्य वक्ता राजेश ढोसले एवं दुखु राम गोयल थे, मार्ग प्रभारी राजकुमार हंसले के साथ दल में जवाहरलाल, रामचरण गढ़ेवाल, नीतेश किरण, चंद्रशेखर प्रधान सम्मिलित थे। भ्रमण दल ने अकलतरा, बनाहिल, किरारी, चोरभट्टी, नवागांव, सिल्ली, पौना, छोटे मुरली, बड़े मुरली, सेवई एवं डीह में ग्रामीण जनों एवं विद्यार्थियों की मध्य पहुंच कर शिक्षा के प्रति जागरूक करते हुए कैरियर मार्गदर्शन प्रदान कर जीवन में आगे बढऩे के लिए प्रेरित किया। ग्रामीणों ने सूर्यांश भ्रमण दल को अपने मध्य पाकर प्रसन्नाता पूर्वक अपने जिज्ञासाओं का समाधान किया। ग्रामीण भ्रमण कार्यक्रम की विस्तृत जानकारी देते हुए प्रो. गोवर्धन सूर्यवंशी ने बताया कि ग्रामीण भ्रमण दल जिले के सोलह मार्गो में अलग-अलग गांव में जाकर शिक्षा के प्रति जागरूकता एवं कैरियर मार्गदर्शन का कार्य कर रहे हैं। करियर मार्गदर्शन एवं ग्रामीण भ्रमण दल को अपने बीच पाकर विद्यार्थी एवं ग्रामीण जन उत्साहित होकर अपने जिज्ञासा व प्रश्नों का समाधान पा रहे हैं।

Previous articleमुख्यमंत्री भूपेश बघेल का बड़ा फैसला, छत्तीसगढ़ में टी कॉफी बोर्ड का किया जाएगा गठन …
Next articleपुराने पाइप लाइन बदलने व सावधानी और उपचार के लिए प्रचार-प्रसार किया जारी