कोरबा। लोक निर्माण विभाग अनुविभाग क्रमांक दो कटघोरा के अंतर्गत चोटिया मातिनदाई इलाके में चार किलोमीटर की सड़क की स्थिति दयनीय है। दावा है कि 8 वर्ष से इस तरह के हालात बने हैं। जनता की परेशानी पर प्रशासन का ध्यान नहीं है।
ग्रामीणों की समस्याएं जस की तस बनी हुई है। जर्जर मार्ग की वजह से क्षेत्र में धूल प्रदूषण बढ़ गया है। इससे यहां निवासरत लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा हैए स्थिति विषम होने के बाद भी प्रशासन की ओर से सड़क मरम्मत का कार्य नहीं कराया जा रहा है प्रदूषण से निपटने के लिए क्षेत्रवासी व राहगीर मास्क पहनकर आवागमन कर रहे हैं। राज्य सड़क मार्ग क्रमांक दो पाली-दूलापुर से लेकर मातिन दाई चोटिया चौक के बीच तब की सड़क बेहद जर्जर हो गई है। अब तक सड़क को दुरुस्त करने की दिशा में कोई पहल नहीं की गई है। इसे लेकर क्षेत्रवासी खुद को छला महसूस कर रहे हैं मुख्य मार्ग लंबे अरसे से बदहाली के आंसू बहा रहा है। दिन भर धूल का गुबार छाया रहता है इस मार्ग से गुजरने वालों को भारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। सड़क में सबसे ज्यादा बदहाल स्थिति चोटिया चौक से लेकर मातिन दाई मंदिर के बीच की है। इस मार्ग पर चलने वाले राहगीरों में धूल के कारण दुर्घटना का भय बना रहता है दिन में भी वाहनों में लाइट जलाकर लोक सफर कर रहे हैं। कई दुपहिया सवार दुर्घटनाग्रस्त होकर चोटिल हो चुके हैं। मार्ग में पानी का भी छिड़काव नहीं हो रहा है। जिला प्रशासन सहित क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों का ध्यान इस ओर नहीं जा रहा है। धूल का गुबार इतना अधिक रहता है कि लोगों को सांस लेने में तकलीफ हो रही है। सड़क मरम्मत के नाम पर खानापूर्ति पाली-दुल्लापुर से चोटिया कोरबी मार्ग के मरम्मत के नाम पर खानापूर्ति हो रही है पाली कोरबी मार्ग की जर्जरता देखते हुए लोक निर्माण विभाग अपने चहेते ठेकेदारों के के द्वारा पेचिग के नाम पर गड्ढों को भरने के लिए पहले घटिया सामग्री गिट्टी का प्रयोग कर रही है उसके बाद डामर का लेप लगाकर मरम्मत के नाम पर खानापूर्ति की जा रही है।