सूरजपुर। पुलिस अधीक्षक राजेश कुकरेजा ने जिले में नशीले पदार्थ के क्रय-विक्रय पर अंकुश लगाने एवं इस प्रकार के अवैध कारोबार में संलिप्त लोगों के विरूद्व सख्त कार्यवाही करने के निर्देश थाना-चैकी प्रभारियों को दिए थे।
इसी परिपेक्ष्य में शनिवार 27 जून को थाना प्रभारी रामानुजनगर गोपाल धुर्वे को मुखबीर से सूचना प्राप्त हुई कि कोरिया जिले से 2 व्यक्ति नशीले दवाई लाकर बेचने के ग्राहक के तलाश में ग्राम उमापुर से ग्राम नकना की ओर पैदल आ रहे है। जिसकी सूचना से पुलिस अधीक्षक को अवगत कराए जाने पर उन्होंने तत्काल रेड़ कार्यवाही करने के निर्देश दिए।
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर व एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी रामानुजनगर पुलिस टीम के साथ रेड कार्यवाही हेतु ग्राम उमापुर पतरा जंगल पहुंचकर घेराबंदी लगाए जहां मुखबीर के बताए हुलिया के 2 व्यक्ति ग्राम उमापुर पतरा जंगल के पास दिखे जिन्हें पुलिस टीम ने घेराबंदी कर पकड़ा। पूछताछ करने पर दोनों ने अपना नाम (1) मुकेश कुमार साहू पिता मदनेष्वर प्रसाद साहू उम्र 21 वर्ष ग्राम उमापुर थाना रामानुजनगर (2) अली अहमद पिता स्व. अमीर बक्स उम्र 26 वर्ष ग्राम त्रिपुरेष्वरपुर थाना रामानुजनगर का होना बताए जिनके कब्जे से सफेद रंग के झोला के अंदर खाखी रंग के कागज का डिब्बा एवं मटमैला रंग के सेलो टेप में लपेटा हुआ नशीली दवाई रेक्सोजेसिक इंजेक्शन 25 नग, एविल इंजेक्शन 25 नग, प्रोक्सोवीन प्लस कैप्सूल 432 नग कीमत 20 हजार रूपये का जप्त कर अपराध क्रमांक 112/20 धारा 21 बी एनडीपीएस एक्ट का अपराध पंजीबद्व कर विधिवत गिरफ्तार किया गया।
पूछताछ पर आरोपियों ने बताया कि नशीली दवाईयों को कोरिया जिला से लाकर रामानुजनगर सहित आसपास के क्षेत्र में नशेडिय़ों को वास्तविक कीमत से 5-10 गुना अधिक दर पर बिक्री कर लाभ अर्जित करते थे।
इस कार्यवाही में थाना प्रभारी रामानुजनगर गोपाल धुर्वे, एएसआई माधव सिंह, प्रधान आरक्षक हेमन्त सोनवानी, रविन्द्र भारती, आरक्षक रामसागर साहू, बेचुराम सोलंकी, गणेश सिंह, रिवशंकर साहू, देवान सिंह व संतोष ठाकुर सक्रिय रहे।