नईदिल्ली,01 अक्टूबर [एजेंसी]।
हाथरस दुष्कर्म कांड पीडि़त युवती के परिजनों से मिलने के लिए उत्तर प्रदेश कांगेस प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा और राहुल गांधी दिल्ली से निकल चुके हैं। राहुल-प्रियंका डीएनडी के रास्ते हाथरस जाएंगे, वहीं यूपी पुलिस ने दोनों को रोकने के लिए पुख्ता इंतजाम कर रखे हैं। पुलिस का कहना है कि किसी भी हाल में दोनों दिल्ली बॉर्डर पर रोका जाएगा।
ऐसे में डीएनडी पर भारी पुलिस जांच रही है, इसके चलते यहां पर भीषण जाम लग गया है। हाथरस घटना के विरोध में डीएनडी टोल प्लाजा पर कांग्रेस के प्रदर्शन से भीषण जाम लग गया है। बॉर्डर पर दो किलोमीटर लंबा जाम लग गया है। पुलिस कांग्रेस कार्यकर्ताओं को वापस जाने को कह रही है। वहीं, इस बात से नाराज कांग्रेसी धरने पर बैठ गए हैं।
पहले कहा जा रहा था कि कांगेस नेता राहुल गांधी भी हाथरस घटना में पीडि़त परिवार से मिलने नोएडा के रास्ते हाथरस जा सकते हैं, लेकिन अब सिर्फ प्रियंका गांधी सडक़ मार्ग से हाथरस जा रही हैं। यही वजह है कि कांग्रेस महानगर के नेताओं का डीएनडी पर सुबह से ही जमावड़ा लगना शुरू हो गया है। बताया जा रहा है कि प्रियंका और राहुल गांधी शुक्रवार दोपहर 12 बजे के आसपास डीएनडी से हाथरस जाने के लिए गुजर सकते हैं। ऐसे में नोएडा पुलिस ने नोएडा-दिल्ली के सभी बॉर्डरों पर सख्ती बढ़ा दी है। पुलिस की ओर से बॉर्डर पर लगातार चेकिंग चल रही है। पुलिस की ओर से कांग्रेस के नेताओं को बॉर्डर से लौटाए जाने की उम्मीद है। बॉर्डर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।हाथरस दुष्कर्म कांड को लेकर राजनीति भी तेज हो गई है। कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने योगी सरकार पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा है कि यूपी में कानून व्यवस्था बुरी तरह चरमरा गई है। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा का आरोप है कि पीडि़ता का परिवार अंतिम संस्कार तक नहीं कर पाया। ये अमानवीयता का सबसे बड़ा उदाहरण है। यहां पर बता दगें कि 14 सितंबर को उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले के चंदपा थाना क्षेत्र स्थित एक गांव में 19 साल की एक दलित लडक़ी के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया था, वहीं घटना के बाद पुलिस ने इस मामले में 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इस मामले को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव और मायावती ने भी योगी सरकार को निशाने पर लिया है।