रांची, २९ जून।
मुख्यमंत्री चंपई सोरेन ने शुक्रवार को पूर्व हेमंत सोरेन को जमानत देने संबंधी आदेश को सत्य की जीत बताया है। उन्होंने कहा कि सत्य परेशान हो सकता है, पराजित नहीं।उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री के साथ एक तस्वीर भी पोस्ट की, जिसमें सत्यमेव जयते लिखा है। कैबिनेट की बैठक के बाद मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि वे शुरू से कहते आ रहे थे कि जमीन के जिस मुकदमे को लेकर हेमंत बाबू पर आरोप लगाया गया, उसके बही-खाते में उनका नाम तक नहीं है। उन्हें पूरा भरोसा था कि न्यायालय से हेमंत बाबू को न्याय मिलेगा। चंपई सोरेन ने कहा कि 2019 में हेमंत सोरेन के नेतृत्व में गठबंधन ने चुनाव लड़ा और जनादेश प्राप्त किया। हेमंत सोरेन पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष हैं।जेल में उनके रहने पर भी और बाहर आने के बाद गठबंधन और अधिक मजबूत होगा। नेतृत्व परिवर्तन से जुड़े सवाल पर मुख्यमंत्री चंपई सोरेन ने कहा कि यह गठबंधन का विषय है। सबसे बड़ा संगठन होता है।हेमंत सोरेन की रिहाई से सत्तारूढ़ गठबंधन में उत्साह का संचार हुआ है। राज्य सरकार के मंत्री और हेमंत सोरेन के छोटे भाई बसंत सोरेन ने कहा कि यह न्याय की जीत है। न्यायालय के फैसले का वह सम्मान करते हैं। हमें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा था। न्याय की जीत हुई है। उन्होंने हाई कोर्ट को धन्यवाद दिया। राज्य सरकार के मंत्री दीपक बिरुवा ने हेमंत सोरेन की रिहाई का स्वागत करते हुए कहा- सत्यमेव जयते। हेमंत सोरेन की लड़ाई रंग लाई। उधर मंत्री हफीजुल हसन ने एक्स पर पोस्ट किया – सत्य को कभी पराजित नहीं किया जा सकता। वे हाईकोर्ट के फैसले का दिल से स्वागत करते हैं। फैसले ने तानाशाही ताकतों द्वारा बनाए गए महल को भी ध्वस्त कर दिया है। मंत्री मिथिलेश ठाकुर ने कहा कि सत्य कभी भी परास्त नहीं हो सकता है। न्यायालय ने एक आदिवासी शेर दिल पूर्व मुख्यमंत्री को जमानत दी है। इस फैसले का हृदय से स्वागत और अभिनंदन है।फैसले ने झूठ की रेत पर तानाशाही ताकतों के बनाए गए महल को भी ढाह दिया है। झामुमो विधायक सुदिव्य कुमार सोनू ने कहा कि सत्य और हेमंत सोरेन परेशान हो सकते हैं, पराजित नहीं। झामुमो की राज्यसभा सदस्य महुआ माजी ने कहा कि राज्य में खुशी की लहर है। एक युवा और लोकप्रिय मुख्यमंत्री को लोगों से दूर रखने की साजिश की गई। झारखंड की जनता इससे नाखुश थी। सत्ताधारी दल 400 पार का नारा लगा रहा था, लेकिन 200 सीटों पर ही जीत मिली। इन्हें समझ में आ गया है कि लोकप्रिय नेता को कैद में रखना उचित नहीं है। प्रदेश कांग्रेस प्रभारी गुलाम अहमद मीर ने एक्स पर लिखा कि झारखंड के पूर्व सीएम हेमंत सोरेन एक कद्दावर आदिवासी नेता को जमानत देने के उच्च न्यायालय के फैसले से वह बहुत खुश हैं। विधानसभा चुनाव से पहले वास्तव में यह एक बड़ी घटना और गठबंधन के लिए खुशी का क्षण है। वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव ने कहा कि यह सत्य की विजय है।
ईडी को भी सबक लेना चाहिए।प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने एक्स पर फिल्म ‘खून भरी मांग’ के एक लोकप्रिय हिंदी गाने- हंसते हंसते कट जाए रास्ते, जिंदगी यूं ही चलते रहे का एक अंश पोस्ट किया। उन्होंने अपनी और हेमंत सोरेन के साथ की तस्वीर डालते हुए जिक्र किया है कि यह गौरव का दिन है।राहुल गांधी ने भारत जोड़ो न्याय यात्रा शुरू की थी, अब न्याय मिलने लगा है। एजेंसियों ने भी अपना काम करने का तरीका बदला है। यह भी कहा जा सकता है कि वह मात खाई हैं। हेमंत सोरेन से मिलने उनके अवासा पर सीएम चंपई सोरेन और कई मंत्री व विधायक पहुंचे।