कोरबा। सामाजिक कार्यकर्ता विनोद सिन्हा ने एक प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से जिला पुलिस अधीक्षक से अनुरोध किया है कि जिले में 20 से अधिक अपराधिक प्रकरण दर्ज व्यक्तियों को अपने निगरानी में उनके वर्तमान गतिविधियों पर नजर रखना आवश्यक हो गया है। डीजीपी के दिशा निर्देश के आधार पर पूर्व व वर्तमान अपराधियों की सूची तैयार की जानी चाहिए जिससे भविष्य में विकास दुबे जैसे अपराधी पैदा ना हो।
सिन्हा ने आगे बताया कि कोरबा जिले में वर्षों से राजनीतिक संरक्षण एवं सफेदपोश के रूप में ऐसे अपराधी स्वतंत्र रूप से विचरण कर रहे हैं जिनके ऊपर 50 से अधिक अपराधिक मामले दर्ज है। ऐसे अपराधियों के विरुद्ध पुलिस द्वारा यह कह कर कार्यवाही नहीं की जाती कि अब वह वर्तमान में अपराध नहीं कर रहा है लेकिन आने वाले समय में क्या गारंटी है कि ऐसे अपराधी राजनीतिक संरक्षण में जो पल रहे हैं वह किसी भी समय अपने प्रतिद्वंदी विपक्षियों के विरुद्ध विकास दुबे जैसा विकराल रूप धारण कर ले। ऐसी स्थिति में पुलिस अधीक्षक को चाहिए कि जिन अपराधियों के विरुद्ध 20 से अधिक प्रकरण दर्ज है उन्हें जिला बदर करने की कार्रवाई की जाए चाहे वर्तमान में अपराध करने का कोई सबूत नहीं मिल रहा हो तो भी उसे निगरानी में जिला बदर कार्यवाही आवश्यक है ताकि भविष्य में जिले की आम जनता अमन चैन से रह सके।

Previous articleतहसील कार्यालय दीपका में हुआ पौधारोपण
Next articleयुकांई करेंगे आंदोलन