गोताखोर अशोक की खोज 8 दिन से सक्रिय टीम
स्थानीय प्रतिनिधि
कोरबा। वार्ड क्रमांक 1 रामसागर पारा के पुराने तालाब में कूदने वाले गोताखोर अशोक को खोजने का काम जारी है। आज 8 वें दिन भी यहां पर इस काम को जारी रखा गया। नतीजों के प्राप्त होने तक यह प्रक्रिया चलती रहेगी।
कोतवाली थाना के अंतर्गत आने वाले रामसागर पारा में कमल गोड़ और उसके दो साथी दीवाली की रात जुआ खेल रहे थे। इस बीच पुलिस का सायरन सुनकर वे यहां-वहां भाग गए। इसी दरम्यान कमल तालाब में कूद गया। अगली सुबह जानकारी होने पर तलाश शुरू की गई। कोई खास परिणाम नहीं आने पर सर्वमंगला पारा में रहने वाले गोताखोर अशोक नायडू ने तलाशी का काम अपने जिम्मे लिया और तालाब में कूद गया। 1 घंटे बाद जब वह वापस नहीं आया, तब लोग चिंतित हुए। प्रशिक्षित गोताखोरों के माध्यम से तालाब में खोजबीन अभियान शुरू किया। एसडीआरएफ की टीम ने 50 घंटे बाद मृतक कमल गोड़ को यहां से बरामद किया लेकिन अशोक का कोई पता नहीं चल सका। कई प्रकार के उपकरण के साथ तलाशी अभियान को लगातार गतिशील रखा गया है। प्रशिक्षित गोताखोरो को ऑक्सीजन सिलेंडर और अन्य सिस्टम के साथ तालाब में उतारा गया। हैरत की बात यह है कि 8 दिन हो चुके हैं फिर भी खोजबीन के प्रयास में अशोक टीम के हाथ नहीं लग सका। टीआई कोतवाली दुर्गेश शर्मा ने बताया कि अशोक की तलाश के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है। जब तक उसे बरामद नहीं कर लिया जाता, अभियान नहीं रूकेगा।
नगर निगम ने हटाई गंदगी मौके से
तलाशी अभियान की प्रक्रिया में अब तक रामसागर पारा के तालाब से नगर निगम द्वारा बड़ी मात्रा में जलकुंभी और अन्य खरपतवार को हटाने का काम किया गया है। रोजाना कई ट्रिप में यह अपशिष्ट यहां से निकाल बाहर किया गया। इसके अतिरिक्त दो टूल्लूपंप के जरिये तालाब का पानी डे्रनेज सिस्टम से हटाया जा रहा है। चंूकि तालाब का दायरा बड़ा है और उसमें काफी मात्रा में पानी के साथ दूसरे अपशिष्ट मौजूद है। इसलिए भी राहत और बचाव कार्य में कई प्रकार की दिक्कतें सामने आ रही है।