शाम सात से सुबह सात बजे तक आवागमन प्रतिबंधित, आदेश हुआ जारी
जांजगीर-चांपा। कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारीयशवंत कुमार ने नोबेल कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए 30 जून तक संपूर्ण जांजगीर-चांपा जिले में पूर्ण लॉकडाउन घोषित किया है। यह आदेश 30 जून तक के लिए तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया गया है।
गृह मंत्रालय भारत सरकार के आदेश एवं स्वास्थ विभाग की एडवाइजरी के अनुसार अनुमति प्राप्त सभी प्रकार की गतिविधियों का संचालन सुबह सात बजे से शाम सात बजे तक (रविवार एवं जिला प्रशासन द्वारा समय समय पर घोषित कंटेनमेंट जोन को छोडक़र) सोशल और फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए संचालित किया जाएगा। लाकडाउन के दौरान सार्वजनिक परिवहनयान तथा यात्री सिटी बस की सेवा पूर्णत प्रतिबंधित रहेगी। व्यक्तियों के अंतर्राज्यीय परिवहन के बारे में प्रतिबंध पूर्व अनुसार जारी रहेगा। इस संबंध में ई-पास के माध्यम से अनुमति प्राप्त होने पर ही आवागमन किया जा सकेगा। व्यक्तियों के अंतरजिला परिवहन के बारे में पूर्व निर्धारित प्रक्रिया अनुसार ई-पास के माध्यम से अनुमति प्राप्त होने पर आवागमन किया जा सकेगा। फल सब्जी की दुकानें खोलने की अनुमति अनुमति सुबह सात बजे से शाम पांच बजे तक (रविवार को छोडक़र) दी गई है। ठेले के माध्यम से फल व सब्जी घूम-घूम कर सुबह सात बजे से शाम पांच बजे तक बेची जा सकेगी। इन स्थलों पर व्यक्ति भीड़ में नहीं रहेंगे। दो ठेलों के बीच कम से कम 20 फीट की दूरी होना आवश्यक है। मिल्क पार्लर व दूध डेयरी को प्रतिदिन सुबह छह बजे से सुबह 10 बजे तक एवं शाम चार से सात तक खोलने की अनुमति दी गई है। घर पर जाकर दूध बांटने वाले दूध विक्रेता एवं न्यूजपेपर हाकर को सुबह छह बजे से 10 बजे तक की अनुमति होगी। सभी होटल, रेस्टोरेंट एवं हॉस्पिटैलिटी सेवा (मसाज, पार्लर, ट्रैवल, एजेंसी, टूर आपरेटर, क्लब, रिसॉर्ट, जैसे डिस्कोथिक) बंद रहेगी। स्वास्थ्य, पुलिस, शासकीय सेवक, पर्यटक सहित फंसे हुए लोग एवं कैंटीन सुविधा में उपयोग में लाए जाने वाले वस्तुओं बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन में संचालित कैंटीन रेस्टोरेंट होटल को छोडक़र, रेस्टोरेंट एवं होटलों को होम डिलीवरी की अनुमति होगी। विद्यालय, महाविद्यालय, शिक्षण संस्थाएं बंद रहेगी। ऑनलाइन लर्निंग की अनुमति होगी। सभी स्पोट्र्स काम्पलेक्स, सार्वजनिक पार्क एवं स्टेडियम सात जून तक बंद रहेंगे। क्लब एवं बार का संचालन बंद रहेगा। सभी सिनेमा हॉल, मॉल, जिम, खेल परिसर, स्टेडियम, स्विमिंग पूल, मनोरंजन, उद्यान तथा ऑडिटोरियम और इस प्रकार के स्थान सप्ताहिक हाट बाजार, मेला के संचालन पर प्रतिबंध रहेगा। सभी धार्मिक संस्थान पूजा के स्थान आमजन के लिए बंद रहेंगे। धार्मिक सभाएं कड़ाई से बंद रहेगी। माल की लोडिंग भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर नहीं किया जाएगा। यदि ऐसे स्थानों पर लोडिंग किया जाता है तो, उसे मध्य रात्रि में अनुमति दी जाएगी। शहरी क्षेत्र में औद्योगिक गतिविधियों का संचालन जिला एवं उद्योग केंद्र के महाप्रबंधक से सत्यापन के बाद दिशा-निर्देश के पालन की शर्त पर प्रारंभ की जा सकती है। पान दुकान व ठेले में विक्रय (रविवार को छोडक़र) किए जाने वाले पदार्थ जैसे सिगरेट, पान, बीड़ी, तंबाकू, गुटका, गुड़ाखू का उपभोग, उपयोग सार्वजनिक स्थान व पान ठेला पर किए जाने पर प्रतिबंध होगा। इन सामग्रियों का मात्र विक्रय किया जाएगा। ठेले व गुमटी सप्ताह के सोमवार से शनिवार सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक खोलने की अनुमति दी गई है। दो ठेेलों के बीच कम से कम 20 फीट की दूरी हो रखना होगा। शहर में घूम पर आवश्यक सामग्री वाले सप्ताह में सात दिन चल सकेंगे। यदि किसी बाजार या सडक़ में स्थान कम हो और ठेले अधिक हो तो मुख्य नगरपालिका अधिकारी द्वारा आवश्यक व्यवस्था की जाएगी। साथ ही 20 फीट की दूरी का पालन कराएंगे। सेलून दुकान एवं ब्यूटी पार्लर सप्ताह में एक दिन मंगलवार को छोडक़र शेष दिनों में सुबह 7 बजे से शाम 7 बजे तक सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए 50 प्रतिशत कर्मचारियों की उपस्थिति में कार्य कर सकेंगे। ग्राहकों का रजिस्टर संधारित करना अनिवार्य होगा, जिसमें आवश्यक जानकारी जैसे नाम, पता, मोबाइल नंबर आदि का ब्यौरा अनिवार्य रखना अनिवार्य होगा। कोरोना वायरस के संक्रमण के मद्देनजर शारीरिक दूरी का पालन करना होगां। संक्रमण के रोकथाम के लिए अन्य आवश्यक दिशा-निर्देश का पालन करना होगा। दुकान में भीड़ कम करने की दृष्टि से पूर्वानुमति प्राप्त कर उसी क्रम अनुसार व्यक्तियों का सेविंग कटिंग करने के लिए बुलाया जाएगा। हाथ धोने के लिए साबुन एवं पानी की व्यवस्था करनी होगी। दुकान में भीड़ बढऩे पर दुकानदार जिम्मेदार होगा। कंटेनमेंट जोन घोषित होने पर शासन द्वारा समय-समय पर जारी दिशानिर्देश एडवाइजरी अनुसार पालन मान्य होंगे। अन्य अतिरिक्त गतिविधियों को निष्पादित करने की अनुमति कंटेनमेंट जोन में नहीं होगी। जिले में कंटेनमेंट जोन घोषित होने पर निर्देशानुसार कार्रवाई की जाएगी। अति आवश्यक गतिविधियों को छोडक़र व्यक्तिगत आवाजाही संपूर्ण जांजगीर-चांपा जिले में शाम सात से सुबह सात बजे तक बंद रहेगी, जिसका कड़ाई से पालन करना होगा। इसी प्रकार 65 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति, अन्य रोगों से ग्रसित व्यक्ति, गर्भवती महिलाएं और 10 वर्ष से कम आयु के बच्चे घर पर ही रहेंगे। वे केवल आवश्यक सेवाओं और स्वास्थ्य प्रयोजनों के लिए ही बाहर निकल सकते हैं। फोन से आरोग्य सेतु एप्प इंस्टॉल करने की सलाह सभी को दी गई है। एप्प में रोजाना अपने हेल्थ स्टेटस अपडेट करना होगा। दफ्तरों और कार्यालयों में कर्मचारियों की सुरक्षा के लिए दिशा-निर्देश दिया गया है कि वे सभी कर्मचारियों के फोन में आरोग्य सेतु एप्प डाउनलोड करवाए। सार्वजनिक स्थानों पर मास्क लगाना अनिवार्य रहेगा। दुकान में एक समय में पांच से ज्यादा व्यक्तियों को इक_ा नहीं होने देंगे। सोशल फिजिकल डिस्टेंस का पालन किया जाएगा। वर्क फ्रॉम होम को बढ़ावा दिया जाएगा। सार्वजनिक स्थानों पर थूकना प्रतिबंधित रहेगा। दुकान परिसर में एक मीटर की दूरी पर कार्य करना होगा। विवाह संबंधी कार्यक्रम के सोशल डिस्टेंस का पालन किया जाना अनिवार्य होगा तथा इसमें सम्मिलित व्यक्तियों की अधिकतम संख्या 50 होगी। पूर्व अनुमति तहसीलदार अनुविभागीय दंडाधिकारी से प्राप्त की जा सकेगी। अंतिम संस्कार जैसे आयोजन में सम्मिलित व्यक्तियों की अधिकतम संख्या 20 होगी। इसकी अनुमति संबंधित तहसीलदार से प्राप्त की जा सकेगी। कारखाना औद्योगिक संस्थान एवं व्यवसायिक परिसर में थर्मल स्केनिंग, मास्क सेनेटाइजर हाथ धोने के लिए साबुन एवं पानी की व्यवस्था सुनिश्चित करना होगा। साथ ही साथ कार्यरत कर्मचारी की अलग-अलग पालियों में बुलाया जाएगा। समस्त कारखाना व औद्योगिक संस्थान के संचालक व प्रबंधकों को अन्य राज्यों से आने वाले प्रवासी मजदूरों एवं श्रमिकों को लाने की अनुमति जिला व्यापार एवं उद्योग केंद्र से लेना होगा। जिले में आने के बाद इसकी सूचना उद्योग विभाग, पुलिस विभाग एवं स्वास्थ विभाग को देनी होगी। साथ ही साथ प्रवासी श्रमिकों को शासन के दिशा-निर्देश का कड़ाई से पालन कराना होगा। क्वारेंटीन में रखे जाने की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित होगी। लाकडाउन के आदेश एवं दिशा-निर्देशों के उल्लंघन पर आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 एवं भारतीय दंड संहिता तथा अन्य सुसंगत विधिक प्रावधानों के तहत कार्रवाई की जाएगी। जिले में कंटेंटमेंट घोषित होने की दशा में शासन का पूर्व में जारी निर्देशानुसार प्रभावी होगा।